scorecardresearch
 
लाइफस्टाइल न्यूज़

Corona Vaccine: 75% वैक्सीन पर 10 देशों का कब्जा, 130 देशों को नहीं मिली एक भी डोज: UN

वैक्सीन वितरण की आलोचना
  • 1/8

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए पूरी दुनिया में लोगों को वैक्सीन देने का काम जारी है. जिन देशों में वैक्सीन नहीं बन रही है वो दूसरे देशों से मंगाकर वैक्सीनेशन अभियान चला रहे हैं. हालांकि UN प्रमुख का कहना है कि वैक्सीन का ये वितरण सही तरीके से नहीं किया जा रहा है. वैक्सीन के अनुचित वितरण की आलोचना करते हुए एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि 75 फीसद वैक्सीनेशन सिर्फ 10 देशों में ही हुआ है.
 

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक
  • 2/8

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की उच्च स्तरीय बैठक में गुटेरेस ने कहा कि 130 देशों को वैक्सीन की एक डोज भी नहीं मिली है. उन्होंने कहा, 'इस नाजुक समय में पूरी दुनिया के सामने वैक्सीन का समान वितरण सबसे बड़ी नैतिक परीक्षा है.'
 

वैश्विक टीकाकरण योजना
  • 3/8

गुटेरेस ने निष्पक्ष तरीके से वैक्सीन वितरण सुनिश्चित करने के लिए तत्काल वैश्विक टीकाकरण योजना लाने की जरूरत बताई. इसमें वैज्ञानिकों, वैक्सीन निर्माताओं और फंड देने वालों को शामिल करने की सलाह दी गई है ताकि जल्द से जल्द हर देश के सभी लोगों को वैक्सीन लगाई जा सके.

UN प्रमुख का बयान
  • 4/8

UN प्रमुख ने कहा कि इसके लिए दुनिया की मजबूत आर्थिक शक्ति वाले लोगों को एक इमरजेंसी टास्क फोर्स बनाना चाहिए जिसमें दवा कंपनियों, इंडस्ट्रीज और वैक्सीन बनाने वाले कर्मचारियों को एक साथ लाया जा सके.

कई जगहों पर नहीं पहुंच रही है वैक्सीन
  • 5/8

हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि दुनिया के कई हिस्सों में अभी वैक्सीन का काम शुरू भी नहीं हो पाया है और ऐसी जगहों पर वायरस म्यूटेट हो रहा है. ऐसे में कोरोना वायरस से जल्द छुटकारा मिलना मुमकिन नहीं है.

 COVID-19 वैक्सीन की आपूर्ति
  • 6/8

अल जज़ीरा की रिपोर्ट के अनुसार ब्रिटेन के विदेश सचिव डॉमिनिक राब ने संयुक्त राष्ट्र से कुछ क्षेत्रों में संघर्ष विराम के लिए एक प्रस्ताव स्वीकार करने का आग्रह किया ताकि उन जगहों पर COVID-19 वैक्सीन की आपूर्ति की जा सके.

लाखों लोगों के वैक्सीनेशन से छूटने का खतरा
  • 7/8

राब ने कहा कि यमन, सीरिया, दक्षिण सूडान, सोमालिया और इथियोपिया जैसे देशों में संघर्ष और अस्थिरता की वजह से लाखों लोगों के वैक्सीनेशन से छूट जाने का खतरा है.
 

कोवैक्स प्रोग्राम की आलोचना
  • 8/8

वहीं कई विशेषज्ञों नें विश्व स्वास्थ्य संगठन के कोवैक्स प्रोग्राम की भी आलोचना की है. विशेषज्ञों का कहना कि WHO गरीब देशों को वैक्सीन पहुंचाने के अपने लक्ष्य से भटक गया है.