scorecardresearch
 

सर्दी-बुखार से निजात पाने के लिए आजमाएं तुलसी के ये 3 उपाय...

दवा लेने से बुखार तो कम हो जाता है और कफ भी आना बंद हो जाता है लेकिन बार-बार दवा लेना खतरनाक हो सकता है. सर्दी-बुखार के लिए तुलसी की पत्त‍ियों का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद होता है.

तुलसी की पत्त‍ियां तुलसी की पत्त‍ियां

हो सकता है ये मौसम का असर हो या फिर आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता ही कमजोर हो...सर्दी-बुखार होने के कई कारण हो सकते हैं. सर्दी-बुखार ऐसी बीमारियां हैं जो अक्सर हो जाया करती हैं और इनसे आराम पाने के लिए हम झट से कोई दवा खा लेते हैं.

दवा लेने से बुखार तो कम हो जाता है और कफ भी आना बंद हो जाता है लेकिन बार-बार दवा लेना खतरनाक हो सकता है. सर्दी-बुखार के लिए तुलसी की पत्त‍ियों का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद होता है. तुलसी का पौधा लगभग हर घर में आसानी से मिल भी जाता है.

तुलसी की पत्त‍ियां आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर होती हैं. ये इम्यूनिटी को बूस्ट करने के साथ ही तनाव, सिरदर्द और इंफेक्शन से राहत दिलाने का काम करती हैं.

इन तीन तरीकों से तुलसी की पत्त‍ियों का इस्तेमाल करना है फायदेमंद:

1. तुलसी की चाय बनाकर
एक कप पानी में पांच से छह तुलसी की पत्त‍ियों को अच्छी तरह उबाल लें. पांच से 10 मिनट तक उबलने के बाद इसे एक कप में छान लें. दिन में दो बार ये चाय पीने से बुखार और सर्दी में राहत मिलेगी. इसके अलावा ये मलेरिया और डेंगू से भी बचाव में सहायक है.

2. तुलसी वाला दूध
अगर बुखार कम नहीं हो रहा है तो तुलसी वाला दूध पीना आपके लिए बहुत फायदेमंद रहेगा. इसके लिए आधे लीटर दूध में तुलसी की कुछ पत्त‍ियों को और दालचीनी को अच्छी तरह उबाल लें. इसके बाद इसमें ऊपर से थोड़ी सी मात्रा में चीनी मिला लें. इस दूध को पीने से बुखार में आराम मिलेगा. इसके अलावा ये वायरल बुखार में भी फायदेमंद है.

3. तुलसी का रस
तुलसी का रस भी बुखार और सर्दी में फायदेमंद है. ये बच्चों के लिए खासतौर पर फायदेमंद है. 10 से 15 तुलसी की पत्त‍ियों का रस निकाल लें. हर दो से तीन घंटे में ये रस पीते रहें. इससे बहुत जल्दी फायदा होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें