scorecardresearch
 

पीरियड्स से जुड़ी ये बातें आपको पता नहीं होंगी

महीने के उन दिनों को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जाते हैं लेकिन यह जानना बेहद जरूरी है कि पीरियड्स एक नेचुरल प्रक्रिया है और यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए होती है.

पीरियड्स से जुड़ी ऐसी बातें जो कम लोग ही जानते होंगे पीरियड्स से जुड़ी ऐसी बातें जो कम लोग ही जानते होंगे

ज्यादातर महिलाओं के लिए पीरियड्स किसी बुरे सपने की ही तरह होता है. महीने के उन दिनों में महिलाओं में कई तरह के हॉर्मोनल बदलाव आते हैं जिससे उनका व्यवहार और शारीरिक गतिविधियां भी बदल जाती हैं. कुछ महिलाओं के लिए ये दिन ब‍हुत कष्ट भरे होते हैं तो कुछ के लिए सामान्य दिनों जैसे ही.

महीने के उन दिनों को लेकर पुरुष तरह-तरह के कयास लगाते हैं लेकिन ये जानना बेहद जरूरी है कि पीरियड्स एक नेचुरल प्रक्रिया है और यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए होती है. बावजूद इसके हमारे समाज में आज भी पीरियड्स पर लोग खुलकर बातें नहीं करते हैं. ऐसे में पीरियड्स से जुड़ी कई बातें साफ ही नहीं हो पाती हैं. महीने के उन दिनों से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोगों को ही पता होती हैं:

1. महीने के उन दिनों में महिलाओं में जो हॉर्मोनल बदलाव होते हैं वे उन्हें एक्साइटेड बनाते हैं. इस दौरान वे अपने पार्टनर की ओर ज्यादा आकर्षित होती हैं.

2. आमतौर पर महिलाओं को लगता है कि पीरियड्स के दौरान बहुत ज्यादा ब्लीडिंग हुई है लेकिन असलियत यह है कि आमतौर पर पूरी पीरियड साइकिल के दौरान करीब दो टेबलस्पून जितनी ही ब्लीडिंग होती है.

3. पहले के समय में किशोरावस्था में पीरियड साइकिल शुरू होती थी लेकिन अब यह उम्र घटकर 12 साल हो गई है. इसका प्रमुख कारण लाइफस्टाइल है.

4. हाल में हुए एक अध्ययन में कहा गया है कि पीरियड्स के दौरान महिलाओं की आवाज कुछ बदल सी जाती है.

5. पीरियड्स के ज्यादातर लक्षण, प्रेग्नेंसी के लक्षणों जैसे होते हैं. जिस तरह गर्भवती होने के साथ ही महिला में हॉर्मोनल बदलाव होने लगते हैं उसी तरह पीरियड्स में ये परिवर्तन आते हैं. सिर व शरीर में भारीपन, कमर दर्द, मिचली आना और कई ऐसे लक्षण हैं जो दोनों स्थितियों में एक जैसे होते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें