scorecardresearch
 
सेहत

National Cancer Awareness Day 2020: कैंसर का खतरा बढ़ाती हैं ये 4 चीजें, जल्द बना लें दूरी

कैंसर का खतरा बढ़ाती हैं ये 4 चीजें
  • 1/10

कैंसर के कारण पूरी दुनिया में हर साल लाखों मौत होती हैं. अगर इसे शुरुआती चरण में ही कंट्रोल न किया जाए तो इंसान को बचाना मुश्किल है. अमेरिका में 20% लोग वजन बढ़ने, फिजिकल इनेक्टिविटी, खराब न्यूट्रिशन और अल्कोहल की वजह से कैंसर का शिकार होते हैं. एक्सपर्ट्स का कहना है कि इंसान के लाइफस्टाइल और डाइट का कैंसर से सीधा कनेक्शन होता है. कैंसर के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए हर साल 7 नवंबर को National Cancer Awareness Day मनाया जाता है.

कहीं आप तो नहीं इन चीजों के आदी?
  • 2/10

'मेडिकल न्यूज टुडे' की एक रिपोर्ट के मुताबिक, डाइट के जरिए कैंसर के खतरे को घटाया या बढ़ाया जा सकता है. खान-पान में तरह-तरह की चीजें शामिल होने की वजह से ये पता लगाना मुश्किल है कि आखिर डाइट में कौन सी चीज कैंसर का खतरा बढ़ाती है. हालांकि डॉक्टर्स इसके लिए कुछ चीजों को बड़ा जिम्मेदार मानते हैं.

अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड
  • 3/10

1. अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड- पैकेट बंद ब्रेड, मिठाइयां, नमकीन स्नैक्स, सोडा, शुगर ड्रिंक्स, प्रोसेस्ड मीट और कैन सूप अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड में आते हैं. इन्हीं से कैंसर का खतरा सबसे ज्यादा होता है. इसके अलावा ऐसे फूड प्रोडक्ट्स जिनमें शुगर, तेल या फैट की मात्रा बहुत ज्यादा होती है, कैंसर का खतरा बढ़ाती हैं.

क्या है प्रोसेस्ड मीट?
  • 4/10

प्रोसेस्ड मीट वो मांस है जिसे लंबे समय तक ताजा रखने के लिए रसायन और प्रीजरवेटिव के साथ मिलाकर रखा जाता है. सॉस, हैम, बेकन, हॉट डॉग और पैकेट बंद मीट जैसी खाने की चीजें प्रोसेस्ड मीट के रूप में बाजारों में उपलब्ध हैं.

रेड मीट बनाम प्रोसेस्ड मीट
  • 5/10

ऐसे कई शोध सामने आ चुके हैं जिनमें शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि लगातार प्रोसेस्ड मीट खाने से ब्लैडर कैंसर होता है. हालांकि नॉन-प्रोसेस्ड रेट मीट से कैंसर का खतरा बढ़ाने के प्रमाण नहीं हैं. अमेरिकन इंस्टिट्यूट फॉर कैंसर रिसर्च के मुताबिक, प्रोसेस्ड मीट के लगातार सेवन से पेट या कोलोरेक्टल कैंसर हो सकता है.

2. अल्कोहल
  • 6/10

2. अल्कोहल- शोधकर्ताओं का ये भी दावा है कि अत्यधिक शराब के सेवन से भी कैंसर का खतरा होता है. शराब या किसी नशीले पदार्थ का सेवन करने से इंसान को मुंह का कैंसर, गले का कैंसर, लिवर कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर और कोलेरेक्टम कैंसर जैसे हिस्सों में कैंसर होने की संभावना रहती है.

3. स्मोक
  • 7/10

3. स्मोक- अमेरिकन इंस्टिट्यूट फॉर कैंसर रिसर्च के अनुसार, शराब के अलावा सिगरेट या तंबाकू का सेवन भी लोगों में कैंसर का खतरा बढ़ाता है. दरअसल शराब या अन्य नशीले पदार्थों में ऐसे कैमिकल होते हैं जो इंसान के डीएनए को डैमेज कर उसकी शारीरिक क्षमता पर बुरा असर डालते हैं.

4. प्रोटीन डाइट खतरनाक
  • 8/10

4. प्रोटीन डाइट- कुछ लोग सेहतमंद रहने के लिए ज्यादा प्रोटीन लेते हैं. ऐसा मांसपेशियों को मजबूत करने, वजन घटाने और भूख को कंट्रोल करने के लिए किया जाता है. ऐसा करके आप खुद कैंसर के खतरे को बढ़ावा देते हैं. एक स्टडी के मुताबिक, हाई प्रोटीन वाला फूड, खासतौर से रेड मीट वाला प्रोटीन कैंसर का खतरा बढ़ता है.

प्रोटीन से खतरा क्यों?
  • 9/10

डाइट में जरूरत से ज्यादा प्रोटीन लेने से कैंसर होने का खतरा 4 फीसदी ज्यादा बढ़ जाता है. खाने में प्रोटीन की मात्रा 10 फीसदी बढ़ाने से कैंसर का खतरा तीन गुना तक बढ़ सकता है. अपनी डाइट में प्रोटीन की मात्रा कम कर दीजिए, खासतौर से जो प्रोटीन आप रेड मीट, डेयरी प्रोडक्ट और चीज से लेते हैं. ध्यान रहे कि प्रोटीन की मात्रा इतनी भी कम न हो जाए कि आप जल्द ही कुपोषित दिखने लगें.

कितना प्रोटीन खाएं?
  • 10/10

यह स्टडी 50 साल से अधिक उम्र के 6,138 प्रतिभागियों पर किया गया था. रिसर्च और इसके परिणाम को विस्तार से सेल मेटाबॉलिज्म पत्रिका में प्रकाशित किया गया है. स्टडीज और स्वास्थ्य एजेंसियों के अनुसार, किसी व्यक्ति को अपने वजन के प्रति किलोग्राम के हिसाब से 0.8 ग्राम प्रोटीन खाना चाहिए. उदाहरण के लिए, यदि आपका वजन 50 किलो है, तो आपको प्रतिदिन 40 ग्राम से अधिक प्रोटीन नहीं लेनी चाहिए.