scorecardresearch
 
सेहत

Low Testosterone: सेक्स हॉर्मोन की कमी से पुरुषों में दिखते हैं ये लक्षण, ना करें नजरअंदाज

टेस्टोस्टेरोन की कमी
  • 1/10

पुरुषों के शरीर में बनने वाले सेक्स हार्मोन को टेस्टोस्टेरोन कहा जाता है. ये हार्मोन सेक्स ड्राइव बढ़ाने का काम करता है. टेस्टोस्टेरोन की कमी से शरीर में कई तरह के बदलाव आने लगते हैं. आइए जानते हैं उन लक्षणों के बारे में जो टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी से दिखाई देते हैं. 
 

बहुत ज्यादा थकान
  • 2/10

बहुत ज्यादा थकान- बहुत ज्यादा थकान लगना टेस्टोस्टेरोन कम होने का प्रमुख लक्षण है. इस हार्मोन की कमी से ऐसा लगता है जैसे कि बॉडी में बिल्कुल भी एनर्जी नहीं बची है. हालांकि, ये उम्र बढ़ने और डिप्रेशन का भी एक लक्षण हो सकता है. कम से कम 8 घंटे की नींद से आप अपने एनर्जी लेवल बढ़ा सकते हैं. इसके अलावा हार्मोन की जांच के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें.
 

सेक्स लाइफ में बदलाव
  • 3/10

सेक्स लाइफ में बदलाव- टेस्टोस्टेरोन की कमी से आपकी सेक्स ड्राइव में भी कमी आ सकती है. इससे इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या भी हो सकती है. हालांकि इरेक्टाइल डिसफंक्शन की और भी कई वजहें हो सकती हैं जैसे कि हार्ट या डायबिटीज की बीमारी. अगर आपमें टेस्टोस्टेरोन की कमी है तो इसके ट्रीटमेंट के बाद आपकी सेक्स ड्राइव बेहतर हो जाएगी.
 

यादाश्त पर असर
  • 4/10

यादाश्त पर असर- टेस्टोस्टेरोन की कमी का असर आपकी यादाश्त पर भी पड़ सकता है. आपको एक जगह ध्यान केंद्रित करने में दिक्कत हो सकती है. ये लक्षण तभी महसूस होता है जब टेस्टोस्टेरोन का स्तर बहुत ज्यादा कम हो गया हो. इसके अलावा आपको डिप्रेशन भी महसूस हो सकता है. ऐसा लगने पर मेडिटेशन, योग, एक्सरसाइज और मसाज से आपको फायदा होगा.
 

मूड में बदलाव
  • 5/10

मूड में बदलाव- टेस्टोस्टेरोन का स्तर आपके मूड पर भी असर डालता है. आप अक्सर उदास सा निराश महसूस करने लगते हैं और कुछ भी अच्छा नहीं लगता है. इसकी वजह से कुछ पुरुषों के व्यक्तित्व में भी बदलाव आने लगता है. ट्रीटमेंट के बाद जब टेस्टोस्टेरोन सामान्य हो जाता है तो आप पहले की तरह फिर से ठीक महसूस करने लगते हैं.
 

मांसपेशियों में बदलाव
  • 6/10

मांसपेशियों में बदलाव- टेस्टोस्टेरोन मांसपेशियां बनाने में भी मदद करता है. ऐसे में इसकी कमी होने पर मांसपेशियों में बदलाव साफ तौर पर देखा जा सकता है. टेस्टोस्टेरोन की कमी से मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं. हालांकि आपको एक्सरसाइज करना नहीं छोड़ना चाहिए. रेगुलर एक्सरसाइज से टेस्टोस्टेरोन का स्तर धीरे-धीरे नियमित होने लगता है. अपनी एक्सरसाइज में वेटलिफ्टिंग भी शामिल करें.
 

ज्यादा बॉडी फैट
  • 7/10

ज्यादा बॉडी फैट- टेस्टोस्टेरोन की कमी का असर आपके बॉडी फैट पर भी पड़ सकता है. अगर आप एक्सरसाइज नहीं करेंगे तो ये कैलोरी आसानी से आपके फैट में बदल जाएगी. डाइट में हेल्दी फूड शामिल करें और ऐसी चीजें खाएं जिससे वजन कंट्रोल में रहे.
 

शरीर के बालों पर असर
  • 8/10

शरीर के बालों पर असर- कम टेस्टोस्टेरोन से चेहरे, बाहों और पैरों के निचले हिस्से के बालों में कमी आने लगती है. आमतौर पर सिर के बालों पर इसका असर नहीं होता है. अगर आपको इस तरह के कोई लक्षण महसूस हो रहे हैं तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें.
 

हड्डियों का कमजोर होना
  • 9/10

हड्डियों का कमजोर होना- टेस्टोस्टेरोन का कम स्तर हड्डियों को भी कमजोर कर सकता है. इसकी वजह से ऑस्टियोपोरोसिस नाम की बीमारी भी हो सकती है. हालांकि इस बीमारी के और भी कई कारण हो सकते हैं. अपनी हड्डियों को मजबूत बनाएं, स्मोकिंग-शराब छोड़ें और रोज एक्सरसाइज करें. सही जांच के लिए डॉक्टर से संपर्क करें.
 

सोने में दिक्कत-
  • 10/10

सोने में दिक्कत- टेस्टोस्टेरोन की कमी से आपको सोने में भी दिक्कत हो सकती है. आपको इन्सोमनिया या फिर रात में बेचैनी महसूस हो सकती है. इसके लिए सोने का सही रुटीन बनाएं. एक ही समय पर सोएं और उठें.