scorecardresearch
 

राजा महेंद्र प्रताप की जयंती मनाने को लेकर 2014 में विवाद, BJP ने चलाया था अभियान

राजा महेंद्र प्रताप की जयंती मनाने को लेकर 2014 में विवाद, BJP ने चलाया था अभियान

राजा महेंद्र प्रताप ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिए जमीन दी, लेकिन एमयू ने कभी उन्हें याद नहीं किया. कुछ ऐसा ही इल्जाम लगाते हुए बीजेपी ने 2014 में राजा महेंद्र प्रताप की जयंती मनाने के लिए अभियान चलाया था. तब जमकर विवाद हुआ था. एक बार फिर राजा महेंद्र प्रताप का नाम सियासत की बिसात पर है. कहावत है कि उत्तर प्रदेश में सत्ता का सूरज पश्चिमी यूपी से निकलता है और यहां के जाटलैंड में किसान आंदोलन ने यूपी सरकार की नाक में दम कर दिया है और ऐसे में जाट राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर अलीगढ़ में यूनिवर्सिटी का शिलान्यास कहीं बीजेपी का ट्रंप कार्ड तो नहीं. देखें ये वीडियो.

A political controversy erupted over the BJP's plan to celebrate the birth anniversary of freedom fighter Raja Mahendra Pratap in the Aligarh Muslim University campus and despite the Vice Chancellor's warning of communal tension, the saffron party stuck to its plan. Raja Mahendra Pratap gave land for Aligarh Muslim University, but MU never remembered him. Making a similar allegation, BJP had launched a campaign in 2014 to celebrate the birth anniversary of Raja Mahendra Pratap. There were a lot of controversies then. Once again the name of Raja Mahendra Pratap is on the chessboard of politics. Amid such a situation, the foundation stone of the university in Aligarh is laid in the name of Raja Mahendra Pratap Singh. Watch this video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें