scorecardresearch
 

बड़े बदलाव की तैयारी में योगी सरकार, यूपी में 5 साल कॉन्ट्रैक्ट से मिलेगी सरकारी नौकरी!

यूपी सरकार सरकारी नौकरी भर्ती प्रक्रिया में बड़ा बदलाव करने पर विचार कर रही है. यूपी में सरकारी नौकरी की शुरुआत पांच वर्ष की संविदा यानी कॉन्ट्रैक्ट से होगी. इसके तहत 5 साल में अगर कर्मचारियों का कार्य प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा तो छंटनी की तलवार लटकी रहेगी.

Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath: सीएम योगी Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath: सीएम योगी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भर्ती प्रक्रिया में बड़े बदलाव की तैयारी में योगी सरकार
  • सरकारी नौकरी के लिए जरूरी होगा 5 साल का कॉन्ट्रैक्ट

उत्तर प्रदेश सरकार सरकारी नौकरी भर्ती प्रक्रिया में बड़ा बदलाव करने पर विचार कर रही है. यूपी में सरकारी नौकरी की शुरुआत पांच वर्ष की संविदा यानी कॉन्ट्रैक्ट से होगी. अगर यूपी सरकार भर्ती प्रक्रिया में बदलाव करने का फैसला करती है तो सरकारी नौकरी की शुरुआत में पहले कॉन्ट्रैक्ट पर नियुक्ति की जाएगी. पांच साल के प्रोबेशन के बाद सरकारी नौकरी पक्की होगी.

जानकारी के मुताबिक, योगी सरकार B और C ग्रुप की सभी परीक्षाओं में बड़ा बदलाव करने पर विचार कर रही है. जिसमें शुरुआत के 5 साल संविदा (Contract) के आधार पर नियुक्त करने की योजना है. इसके तहत 5 साल में अगर कार्य प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा तो छंटनी की तलवार लटकी रहेगी.

वहीं, जो लोग 5 साल की संविदा की नियुक्ति पूरी कर लेंगे और संतोषजनक कार्य रहेगा तो उनकी नौकरी पक्की हो जाएगी. वर्तमान में अलग-अलग भर्ती प्रक्रिया के बाद संवर्ग की सेवा नियमावली के अनुसार 1-2 साल के प्रोबेशन पर नियुक्ति होती है.

अगर भर्ती प्रक्रिया में बदलाव का फैसला होता है तो जो कर्मचारी 5 साल की सेवा तय शर्तों के साथ पूरी कर सकेंगे, उन्हें पक्की नियुक्ति दी जाएगी. बता दें कि नई व्यवस्था के तहत तर्क यह दिया जा रहा है कि इससे राज्य कर्मचारियों की काम करने की दक्षता बढ़ेगी और वित्तीय भार भी कम होगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें