scorecardresearch
 

वाराणसीः गंगा आरती दिखाकर लौट रहे अलकनंदा क्रूज का इंजन बीच नदी में फेल, सभी यात्री सुरक्षित

वाराणसी में अलकनंदा क्रूज का इंजन रात को बीच गंगा नदी में फेल हो गया. हादसे के वक्त क्रूज पर दो दर्जन यात्री सवार थे. अच्छी बात ये रही है कि कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ और सभी सुरक्षित रहे.

क्रूज को मामूली नुकसान पहुंचा है. क्रूज को मामूली नुकसान पहुंचा है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • वाराणसी में मंगलवार रात टला हादसा
  • क्रूज पर दो दर्जन यात्री थे सवार
  • सभी यात्री सुरक्षित बचाए गए

वाराणसी में अलकनंदा क्रूज (Alaknanda Cruise) का इंजन मंगलवार रात फेल हो गया. उस वक्त क्रूज पर दो दर्जन यात्री सवार थे. गनीमत रही कि कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ. बाद में सभी यात्रियों को सुरक्षित बचा लिया गया. हादसा अस्सी घाट के पास हुआ. इंजन फेल होने से अलकनंदा क्रूज अनियंत्रित हो गया और तेज लहरों में बहकर अस्सी घाट तक पहुंच गया. घाट के पास कुछ लोग नाव में भी सवार थे. वो सभी नाव से उतर गए. वहीं, क्रूज में सवार लोगों ने भी उतरकर अपनी जान बचा ली. बताया जा रहा है कि किसी तकनीकी खराबी से इंजन फेल हो गया था. 

जानकारी के मुताबिक, रोज की तरह ही अलकनंदा क्रूज रविदास घाट से यात्रा शुरू करके दशाश्वमेध घाट पर यात्रियों को गंगा आरती दिखाकर वापस रविदास घाट लौट रहा था. तभी अस्सी घाट के नजदीक बीच गंगा में इंजन फेल होने से लहरों में बहता हुआ क्रूज अस्सी घाट किनारे आ पहुंचा.

ये भी पढ़ें-- 7 नवंबर से चलेगी 'रामायण सर्किट ट्रेन', अयोध्या से रामेश्वर तक होंगे दर्शन, इतना है किराया

वक्त रहते अस्सी घाट किनारे नाव पर सवार लोगों ने नाव से उतरकर खुद को सुरक्षित किया. वहीं अलकनंदा क्रूज पर सवार भी सभी दो दर्जन यात्री भी सुरक्षित रहे. दुर्घटना के वक्त क्रूज पर लगभग दो दर्जन लोग सवार थे, लेकिन किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा.

हादसे के बाद अलकनंदा क्रूज के संचालकों ने बताया कि दुर्घटना की वजह से क्रूज को मामूली नुकसान पहुंचा है, जिसे जल्द ही ठीक कर लिया जाएगा. क्रूज का संचालन बुधवार को फिर से शुरू हो जाएगा.

वहीं, अलकनंदा क्रूज लाइन प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर विकास मालवीय ने दावा किया कि क्रूज के अनियंत्रित होने की खबर भ्रामक है. उन्होंने बताया कि मंगलवार का 90% टूर सफल था. अस्सी घाट से गुजरते वक्त उनके क्रूज़ में माइनर दिक्कत इंजन में आई थी, जिस वजह से इंजन को बंद करके अस्सी घाट किनारे पर लगाया गया. इससे क्रूज किनारे खड़ी नाव से टिककर खड़ा हो गया. इससे किसी तरह के नुकसान या क्षति नहीं पहुंची है, बल्कि पूरे टूर को गेस्ट ने काफी एंजॉय किया और सकुशल वापस भी गए.

विकास मालवीय ने बताया कि कुछ नाविक उनकी नाव को नुकसान होने की बात कह रहे हैं. अगर ऐसा है तो अलकनंदा क्रूज लाइन उनकी क्षति की भरपाई करने के लिए तैयार है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें