scorecardresearch
 

यूपी: कोरोना से हुई थी मौत, PPE किट पहनकर पुल से नदी में फेंकी लाश, वीडियो वायरल

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है. राप्ती नदी के पुल से शव को नदी में फेंकने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. वायरल वीडियो 29 मई का बताया जा रहा है. पुलिस ने जांच के बाद दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

नदी में शव फेंकता PPE किट पहने युवक. नदी में शव फेंकता PPE किट पहने युवक.
2:09
स्टोरी हाइलाइट्स
  • PPE किट पहनकर नदी में फेंका शव
  • परिजनों ने शव को नदी में फेंका
  • पुलिस कर रही है मामले की छानबीन

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में मानवता को शर्मसार करने वाला एक वीडियो सामने आया है. वायरल वीडियो में दो युवक एक शव को राप्ती नदी के पुल से नदी में फेंकते नजर आ रहे हैं. शव फेंकने वाले एक युवक ने पीपीआई किट पहनी है. यह घटना सिसई घाट पर बने पुल की बताई जा रही है. रविवार को पुलिस ने शव फेंकने के आरोप में दोनों को गिरफ्तार कर लिया. 

वायरल वीडियो 29 मई की शाम का है. वायरल वीडियो में बिना किट पहने जो युवक दिख रहा है उसकी पहचान बाद में हो गई . बिना किट पहने दिख रहे युवक का नाम चंद्र प्रकाश है, जो श्मशान घाट पर काम करता है. आजतक से उसने बातचीत में कहा कि कुछ लोगों ने उसे पुल पर बुलाया था और शव को नीचे फेंका था.

चंद्र प्रकाश ने कहा, 'कुछ लोग आए और मुझे बुलाकर पुल पर ले गए. मैं पुल के दूसरी छोर पर खड़ा रहा. तब एक युवक ने बैग की चेन खोलकर पत्थर डाला और मुझे बुलाया. फिर नदी में शव फेंककर वापस चला गया. मैंने उनसे कहा भी था कि यहां लकड़ियां हैं तो उन्होंने कहा कि मुझे जल प्रवाह करना है. कई लोग उनके साथ थे इसलिए उन्होंने मेरी बात नहीं सुनी.'



संगम की रेती पर 'मुर्दों का मोहल्ला'! प्रयागराज में शवों से पटा पड़ा है गंगा का किनारा

शव को नदी में फेंकता युवक.

वायरल वीडियो के संदर्भ में सीएमओ डॉ विजय बहादुर सिंह ने आजतक से बातचीत की. उन्होंने बताया कि जिस मृतक को लोगों ने जल प्रवाह किया है वह सिद्धार्थनगर जिले के शोहरतगढ़ थाना क्षेत्र का है. मृतक का नाम प्रेमनाथ मिश्र है.

 

सीएमओ ने कहा कि 25 मई को कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें संयुक्त जिला अस्पताल के एलटू वार्ड में भर्ती कराया गया था. 28 मई को इलाज के दौरान प्रेमनाथ मिश्र की मृत्यु हो गई थी. कोविड प्रोटोकॉल के तहत उनके शव को अंत्येष्टि स्थल पर उनके रिश्तेदारों को सौंपा गया.

वीडियो के संदर्भ में प्रथम दृष्टतया ये बात सामने आ रही है कि इनके परिजनों द्वारा शव को नदी में गिरा दिया गया है. इस मामले में मुकदमा दर्ज करा दिया गया है. आगे की कार्रवाई की जा रही है.

वहीं इस मसले पर बलरामपुर पुलिस मीडिया सेल ने कहा कि जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा बताया गया कि प्रेमनाथ मिश्र की बलरामपुर कोविड L-2 अस्पताल में इलाज के दौरान 28 मई को मृत्यु हो गई थी. 29 मई को दोपहर करीब 12:30 बजे मृतक के भतीजे संजय को सिसई घाट पर लाकर शव को सुपुर्द किया गया था. 

लेकिन अब वीडियो वायरल होने के बाद एंबुलेंस चालक रामप्रीत भारती की लिखित तहरीर के आधार पर महामारी एक्ट के तहत केस दर्ज कर अभियुक्त संजय और मनोज कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है. 

यह भी पढ़ें-
गंगा-यमुना में शवों को फेंकने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका, कमेटी बनाने की मांग
UP: गांवों में हालात बदतर, लोग नदी में प्रवाहित कर रहे शव, यमुना में दर्जनों लाशें दिखने से हड़कंप

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×