scorecardresearch
 

UP की लड़की ने बनाई देश की पहली उड़ने वाली टैक्सी, NASA में भी कर चुकी है काम

यूपी के मुरादाबाद (UP Moradabad) की रहने वाली इंजीनियर श्रेया रस्तोगी ने देश की पहली उड़ने वाली टैक्सी (First flying taxi) तैयार की है. इसका मॉडल भारत ड्रोन महोत्सव में पेश किया गया. श्रेया का कहना है कि वे एक ऐसे छोटे मॉडल पर काम कर रही हैं, जिसे उड़ाना बेहद आसान होगा. इसे घर की छत से उड़ाकर लैंड किया जा सकेगा. इसकी रेंज 200 किलोमीटर होगी.

X
फ्लाइंग टैक्सी तैयार करने वाली श्रेया रस्तोगी व ई-टैक्सी का मॉडल. फ्लाइंग टैक्सी तैयार करने वाली श्रेया रस्तोगी व ई-टैक्सी का मॉडल.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अगले साल तक होगा पहला फ्लाइट ट्रायल
  • घर की छत से उड़ाकर लैंड कर सकेंगे फ्लाइंग टैक्सी
  • 200 Km रेंज में 3 हजार किलोमीटर की ऊंचाई तक हो सकेगी उड़ान

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले की श्रेया रस्तोगी 'भारत ड्रोन महोत्सव' में देश की पहली उड़ने वाली टैक्सी (First flying taxi) e200 विकसित करने वाली टीम का हिस्सा बनीं हैं. श्रेया ने 2018 में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की और फिर एक नई स्पेससूट सामग्री विकसित करने के लिए नासा के साथ काम किया. उनकी ई-प्लेन कंपनी ने दिल्ली में चल रहे भारत ड्रोन महोत्सव में अपना मॉडल पेश किया. ePlane कंपनी ने भारत ड्रोन महोत्सव में टू-सीटर इलेक्ट्रिक वर्टिकल टेक-ऑफ और लैंडिंग (EVTOL) का एक मॉडल प्रेजेंट किया है. इसकी मदद से भारत में जल्द लोग फ्लाइंग टैक्सी से उड़ान भर सकेंगे.

भारत में कब उड़ान भरेगा ई-प्लेन

e200 विमान (e200 aircraft) के लिए उपयोग किए जा रहे इंजनों का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया. इस संबंध में श्रेया रस्तोगी ने कहा कि अभी जिस e200 को बनाया गया है. उसकी लंबाई 5 मीटर और चौड़ाई 5 मीटर है. हम इसका एक छोटा मॉडल भी बना रहे हैं, उसकी लंबाई 3 मीटर और चौड़ाई 3 मीटर होगी. इसे उड़ाने के लिए पायलट की जरूरत नहीं होगी. इसे e50 नाम दिया गया है. अभी इन विमानों के इंजन पर काम हो रहा है. हमारा प्लान है कि 2023 तक पहला फ्लाइट ट्रायल हो जाए.

फ्लाइंग टैक्सी की कितनी होगी अधिकतम रफ्तार

श्रेया ने बताया कि हम हवा में उड़ने वाले एक ऐसे वाहन को बना रहे हैं, जिसे ऑपरेट करना आसान होगा. इसे लोग अपने घर की छत से उड़ा सकेंगे और सीधे छत पर लैंड कर सकेंगे. हमारी उड़ने वाली टैक्सी की रेंज 200 किलोमीटर होगी. यह अधिकतम 160 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से उड़ सकेगी और तीन हजार मीटर की ऊंचाई तक जाएगी.

फ्लाइंग टैक्सी में यात्रा कर सकेंगे देश के लोग

श्रेया की कंपनी ePLANE ने भारत ड्रोन महोत्सव में अपनी उड़ने वाली इलेक्ट्रिक टैक्सी e200 का प्रोटोटाइप पेश किया है. इसमें दो सीट हैं. एक सीट पायलट के लिए और दूसरी यात्री के लिए. इसके इंजन अभी पूरी तरह रेडी नहीं हैं, इसको अभी विकसित किया जा रहा है. इसमें 12 प्लास्टिक पेपर रोटर ब्लेड लगे हैं. इसकी मदद से भारत के लोग सिर्फ प्लेन में नहीं, बल्कि फ्लाइंग टैक्सी में भी यात्रा कर सकेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें