scorecardresearch
 

यूपी में मैजिक पेन से करोड़ों की टैक्स चोरी

टैक्स चोरी के लिए लोग तरह-तरह के जुगाड़ करते रहते हैं. सरकारी टैक्स की चोरी के बड़े-बड़े किस्से भी आपने कई सुने होंगे. क्या आपने कभी सुना है कि महज 150 रुपये में मिलने वाली एक कलम से करोड़ों रुपये की टैक्स चोरी की जा सकती है.

टैक्स चोरी के लिए लोग तरह-तरह के जुगाड़ करते रहते हैं. सरकारी टैक्स की चोरी के बड़े-बड़े किस्से भी आपने कई सुने होंगे. क्या आपने कभी सुना है कि महज 150 रुपये में मिलने वाली एक कलम से करोड़ों रुपये की टैक्स चोरी की जा सकती है. अगर आपने कभी ऐसा नहीं सुना तो बता दें कि ये बिल्कुल सच है. घटना उत्तर-प्रदेश और बिहार बॉर्डर पर चंदौली की है. यहां मैजिक पेन की मदद से सरकार को करोड़ों रुपये महीने का चूना लगाया जा रहा है.

चंदौली के एसपी ने दिखाया कि कैसे कोयला माफिया रोज सरकार को लाखों रुपये का चूना लगा रहे हैं. एसपी ने दिखाया कि उनके हाथ में एक फॉर्म था और उसपर कुछ लिखा भी था. लेकिन माचिस के तीली की लौ दिखाते ही वो लिखावट गायब हो गई. इसी खेल के जरिए सरकार की आंखों में धूल झौंकी जा रही है. दरअसल चंदौली के डीएम और एसपी को सूचना मिली थी कि झारखंड और बिहार से उत्तर प्रदेश में आने वाली कोयला लदी गाड़ियों से बड़े पैमाने पर टैक्स की चोरी की जा रही है. जब मामला खुला तो जिले के अधिकारी भी हैरान रह गए.

चंदौली के डीएम एन.के. सिंह ने बताया कि उन्हें काफी समय से श‍िकायतें मिल रही थी कि नौबतपुर चेकपोस्ट पर जबरदस्त टैक्स चोरी हो रही है. खासकर कोयले के मामले में. उन्होंने कहा, ‘हम और कप्तान साहब लगातार लगे हुए थे. हम लोगों के पास कुछ सॉलिड इन्फॉर्मेशन आई थी. हमने अभियान चलाया और जो ट्रक पकड़े उनमें बहुत ही बड़े घोटाले का पर्दाफाश हुआ. ये लोग जब ट्रक लाते हैं तो इसमें एंट्री नहीं करते. उसी फॉर्म 38 को वो बार-बार इस्तेमाल करते हैं. अगर उन्हें लगता है कि कही चेकिंग हो रही है तो वे एक मैजिक पेन का इस्तेमाल करते हैं.’

चंदौली के एसपी मुनिराज ने बताया कि 15 ट्रक चेक किए, जिसमें से चार ट्रक में फॉर्म 38 चोरी का मामला हम लोगों को मिला. चारों ट्रक को सीज कर एफआईआर दर्ज कर ली गई है. विभिन्न धाराओ में मुकदमा दर्ज करके कोल ट्रेडर्स और ट्रक मालिक दोनों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है.

गौरतलब है कि चंदौली के नौबतपुर चेक पोस्ट से रोजाना हजारों की संख्या में कोयले के ट्रक उत्तर प्रदेश में प्रवेश करते हैं. इस खुलासे के बाद एक अनुमान है कि तकरीबन 500 से ज्यादा ट्रक टैक्स की चोरी करने के लिए मैजिक पेन वाला हथकंडा अपनाते हैं. फॉर्म 38 भरने के बाद एक ट्रक को साढ़े छह हजार रुपये टैक्स जमा करना होता है. इस तरह से अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकार को रोजाना कितना चूना लगाया जा रहा है.

कोयले के कारोबार में टैक्स चोरी के इस खेल का खुलासा होने के बाद जिले के आला अधिकारी अब पूरे नेटवर्क को उखाड़ फेकने में जुट तो गए हैं, लेकिन बरसों से चला आ रहा काले हीरे का यह खेल पूरी तरह से कब खत्म हो पाता है या नहीं, ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें