scorecardresearch
 

लखनऊः PUBG एडिक्ट ने मां का कत्ल कर लाश के साथ कैसे गुजारे 3 दिन, पूरी कहानी

यूपी के लखनऊ (UP Lucknow) में एक नाबालिग लड़के ने पिता की पिस्टल से अपनी मां की हत्या कर दी. इस घटना के पीछे की वजह हैरान कर रही है. दरअसल, लड़के से उसकी मां ने मोबाइल ले लिया था. इस वजह से आरोपी गेम नहीं खेल पा रहा था. पबजी गेम न खेल पाने की वजह से उसने अपनी मां की हत्या कर दी. आरोपी के मामा ने कई खुलासे किए हैं.

X
PUBG की लत, डांट पड़ी तो नाबालिग ने मां को मार डाला
PUBG की लत, डांट पड़ी तो नाबालिग ने मां को मार डाला
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आरोपी के मामा ने कहा- 3 दिन से नहीं उठा रहा था फोन
  • घर में मोबाइल की लत की वजह से पड़ती थी डांट

उत्तर प्रदेश के लखनऊ (UP Lucknow) में एक नाबालिग लड़के ने अपनी मां की हत्या कर दी. बताया जा रहा है कि लड़के की मां उसे PUBG गेम खेलने से मना करती थी. हत्या करने के बाद लड़के ने अपनी छोटी बहन को धमकाकर रूम में बंद कर दिया और अपने दोस्तों के साथ पार्टी की. लड़का दो दिन तक मां के शव के साथ रहा, लेकिन जब शव सड़ने लगा तो उसने पिता को कॉल कर जानकारी दी. आरोपी लड़के को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. आरोपी के मामा ने कहा कि उसे मोबाइल की वजह से डांटा जाता था.

जानकारी के अनुसार, आरोपी लड़के के ने बताया कि वह उसे तीन दिनों से कॉल कर रहे थे, लेकिन वह फोन नहीं उठा रहा था. जब पूछते थे तो बोलता था कि मम्मी पास में गई है. वह बच्ची को भी बाहर नहीं जाने देता था. आरोपी स्कूटी लेकर बाहर खाना लेने जाता था और बहन के लिए भी लाता था. आरोपी की मां ने कुछ दिन पहले उससे फोन छीन लिया था. उसके पिता ने बोला था कि इसका मोबाइल ले लो, क्योंकि हमेशा मोबाइल पर गेम खेलता रहता है.

यह भी पढ़ें: Gujarat News: पिता ने मोबाइल पर गेम खेलने से रोका, तो 15 साल के बेटे ने लगा ली फांसी

आरोपी के पिता अपनी पिस्टल घर पर अलमारी में रखकर गए थे. इस बात की जानकारी आरोपी को थी. उसने पिस्टल निकाल ली और अपनी मां की गोली मारकर हत्या कर दी. आरोपी के मामा ने कहा कि हम सब लोग काफी दुखी हैं. कुछ समझ नहीं आ रहा है. आरोपी का घर में व्यवहार ठीक था, कभी कुछ ऐसा नहीं दिखा. बस मोबाइल की आदत थी और उसी की वजह से डांट पड़ती थी.

कहा जा रहा है कि घर में लड़के की मोबाइल की आदत से सभी परेशान थे. उसकी मम्मी ने उससे मोबाइल छीन लिया था. इसी बात से नाराज होकर उसने खौफनाक कदम उठाया. पुलिस ईस्ट जोन एडीसीपी कासिम अब्दी के मुताबिक, आरोपी कई गेम खेलता है. PUBG सहित अन्य मोबाइल गेम खेलता था. घरवाले मना करते थे, लेकिन वह मानता नहीं था. उसको लगता था कि घर में रोका टोकी बहुत होती थी.

आइए इस घटना को सिलसिलेवार तरीके से समझते हैं-

शनिवार- आम दिन की तरह इस दिन भी नाबालिग लड़का PUBG खेल रहा था. उसकी मां ने उसको डांटा. शनिवार का दिन बीत गया, लेकिन नाबालिग लड़के के मन में डांट को लेकर टीस थी. शनिवार-रविवार की दरमियानी रात 3 बजे वह अपनी मां के कमरे में पहुंचता है और पिता की रिवॉल्वर निकालकर मां की सिर में सटा देता है. सटाने के बाद कहता है- 'बस हो गया, अब नहीं.' फिर ट्रिगर दबा देता है. इतने में मां के बगल में सो रही नाबालिग बहन चौंककर उठ जाती है, जिसे वह धमकाकर दूसरे कमरे में बंद कर देता है.

रविवार- मां की हत्या के बाद उनकी लाश को कमरे में ही आरोपी लड़का छोड़ देता है. लाश की बदबू न आए, इसके लिए वह रूम फ्रेशनर छिड़कता है. इसके बाद वह रविवार सुबह क्रिकेट खेलने के लिए चला गया. उसने पूरे दिन क्रिकेट खेला. वहीं से अपने दो दोस्तों को घर ले आया. तीनों मस्ती करते रहे. एक दोस्त ने पूछा कि आंटी कहां गई हैं? तो आरोपी लड़का कहता है कि चाची के घर. इसके बाद आरोपी लड़का अपने दोस्तों के लिए ऑनलाइन अंडा करी ऑर्डर करता है. दोस्तों के साथ खाना खाने के बाद फुकरे मूवी भी देखा. इस दौरान बहन एक कमरे में बंद थी. दोस्तों के जाने के बाद शाम वह घर के बाहर टहला भी. मानो सबकुछ नॉर्मल है.

सोमवार- इस दिन भी वह अपनी मां की लाश से आ रही बदबू को खत्म करने के लिए रूम फ्रेशनर को छिड़कता रहता है. इसके साथ ही अपनी नाबालिग बहन को धमकी देता रहता है. वह दूसरे कमरे में बंद थी. वह घर से जब भी बाहर जाता तो बहन को अंदर बंद करके ही जाता था. घर में कुत्ता भी था जो लगातार भौंक रहा था, लेकिन उसे बाहर ही बांधकर रखा था. 

इस दौरान पिता समेत कई रिश्तेदार ने महिला के नंबर पर फोन किया, लेकिन लड़का फोन उठाता और बता देता कि मां बाहर गई हैं. इतना कहते ही फोन काट देता था. लड़के के मामा ने कहा कि हम फोन कर रहे थे, लेकिन बहन से बात नहीं हो पा रही थी.

मंगलवार- हत्या के तीसरे दिन जब मां की लाश से दुर्गंध ज्यादा बढ़ गई तो लड़का अपने पिता को कॉल करता है. पिता सेना में हैं और इस समय आसनसोल में पोस्टेड हैं. पिता को वीडियो कॉल करके बताता है कि मां की हत्या कर दी गई और एक बिजली मिस्त्री आया था. पिता, पड़ोसी और लखनऊ में ही रहने वाले अपने भाई को इसकी सूचना देते हैं. पड़ोसी और लड़के के चाचा ने इसकी शिकायत पुलिस से की.

आरोपी लड़के ने क्या कहा?

पुलिक की पूछताछ के दौरान बहन ने कबूल लिया कि भाई ने मां को मारा है. इसके बाद आरोपी लड़के ने कहा कि मां मेरी आजादी छिनती थीं, उन्होंने मुझे पर बेवजह पाबंदी लगाकर रखी, जिन्हें मैं तोड़ना चाहता था. उसने बताया था, 'एक दिन 10 हजार रुपए गायब हुए थे, तब मां ने उसको बहुत डांटा था हालांकि पैसा मिल गए थे, लेकिन इस बात से काफी परेशान था.'

आरोपी लड़के ने आगे कहा, 'मेरी कोई गलती नहीं थी, मां ने मुझे मारा था.' इस पूरी वारदात के बारे में बताते हुए एक रिश्तेदार ने कहा कि मां-बेटे में गेम को लेकर लड़ाई होती थी, कई बार मां से लड़ाई होने पर घर छोड़ कर चला जाता था, वह दिन भर में कई घंटे गेम खेलता था, बोर्ड का पेपर की वजह से उसे रोका जाता था लेकिन इतनी बड़ी घटना को अंजाम देगा, यह नहीं पता था.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें