scorecardresearch
 

बेटे संग मिलकर महिला ने किया पति का मर्डर, फिर उसी कपूत ने मां को भी मार डाला

बावल के खुरमपुर गांव में बेटे ने झगड़े के बाद मां की हथौड़े से सिर पर वार करके हत्या कर दी. पुलिस पूछताछ में आरोपी ने मां की हत्या के साथ-साथ पिता के मर्डर की बात भी स्वीकार की, जिनका दो महीने पहले आत्महत्या बताकर अंतिम संस्कार कर दिया गया था.

X
पुलिस गिरफ्त में आरोपी.
पुलिस गिरफ्त में आरोपी.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बावल में बेटा ही निकला मां का हत्यारा
  • 1 जून को हथौड़ा मार कर की थी हत्या
  • दो महीने पहले पिता का भी किया था मर्डर

हरियाणा के रेवाड़ी स्थित बावल में महिला के ब्लाइंड मर्डर से पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने उसी के बेटे को गिरफ्तार किया है. आरोपी जोगेंद्र ने मां से अनबन होने के बाद हत्या कर दी थी और पुलिस को झूठी सूचना दी थी. इसी के साथ आरोपी ने पिता की हत्या की बात भी स्वीकार की. आरोपी ने बताया कि दो महीने पहले मां के साथ मिलकर उसी ने पिता की हत्या की थी.

बावल डीएसपी राजेश लोहान ने बताया, पुलिस को दी गई शिकायत में खुरमपुर गांव निवासी जागेंद्र ने कहा था कि वह एक कंपनी में जॉब करता है. एक जून को वह ड्यूटी पर गया हुआ था और उसकी 40 वर्षीय मां सुशीला घर पर अकेली थी. रात करीब 11 बजे जब वह घर पहुंचा तो मेन गेट बाहर से बंद था. गेट खोला तो घर के अंदर से तीन युवक बाहर की तरफ भागते हुए निकले. वह तीनों को पहचान नहीं पाया. जब वह घर के अंदर पहुंचा तो सीढ़ियों के पास उसकी मां सुशीला मृत पड़ी हुई थी और चारों ओर खून बिखरा पड़ा था. सूचना के बाद बावल थाना पुलिस मौके पर पहुंची और महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया.

पति का भी मिला था शव

इससे पहले सुशीला के पति रामनिवास की भी अप्रैल महीने में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. 9 अप्रैल की रात को रामनिवास घर के बाहर पशुओं के पास सो रहे थे. अगले दिन सुबह उनका शव एक पेड़ पर फंदे से लटका हुआ मिला था. उस समय परिवार ने आत्महत्या समझ कर शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया था.

दूसरी पत्नी थी सुशीला

बताया जा रहा है कि मृतक रामनिवास की दो शादियां हुई थीं. पहली पत्नी रामरती से एक बेटा मनोहर और बेटी राजबाला हुई. पहली पत्नी की मौत के बाद उन्होंने सुशीला से दूसरी शादी कर ली थी. दूसरी शादी से 3 बेटियां और बेटा जोगेंद्र हुआ. तीनों बेटियों की शादी हो चुकी है, जबकि जोगेंद्र अविवाहित है. बावल थाना पुलिस ने जोगेंद्र की शिकायत पर सुशीला की हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की.

शक के बाद की पूछताछ

ब्लाइंड मर्डर को सुलझाने के लिए बावल डीएसपी राजेश लोहान ने टीम गठित की. पुलिस ने अपने स्तर पर जांच की तो पता लगा कि सुशीला के पति रामनिवास की मौत भी संदिग्ध थी और उसके बारे में पुलिस को कोई सूचना नहीं दी गई थी. रामनिवास के शव पर लोगों ने चोट के निशान भी देखे थे, जबकि परिवार ने उसे आत्महत्या बताया था.

पुलिस के हाथ रामनिवास के फंदा लगाकर आत्महत्या करने के फोटो भी लगे थे. फोटो की जांच के बाद पुलिस को संदेह और बढ़ गया. पुलिस ने जोगेंद्र को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो दोनों हत्या करना स्वीकार कर लिया.

मां के साथ मिलकर बेटे ने की थी पिता की हत्या

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसका पिता रामनिवास शराब पीकर उसे और मां को तंग करता था. 9 अप्रैल की रात जोगेंद्र ने मां सुशीला के साथ मिल कर रामनिवास की गला दबाकर हत्या कर दी और शव के गले में फंदा डालकर शीशम के पेड़ पर लटका दिया. अगले दिन पुलिस को बिना बताए अंतिम संस्कार भी कर दिया.

वारदात की रात मां और बेटे के बीच हुआ था झगड़ा

इसके बाद बेटे जोगेंद्र और सुशीला के बीच भी अनबन रहने लगी और झगड़े होने लगे. वारदात के दिन भी दोनों के बीच झगड़ा हुआ था. रात को ड्यूटी से आने के बाद जोगेंद्र ने हथौड़े से सिर पर वार करके मां की हत्या कर दी. फिर पुलिस को झूठी कहानी बताई. डीएसपी राजेश लोहान ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. उसे मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें