scorecardresearch
 

राष्ट्रपति चुनाव में यूपी का अहम रोल, जानिए द्रौपदी मुर्मू को कितने मिल सकते हैं वोट?

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष ने अपने-अपने पत्ते खोल दिए हैं. बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए ने द्रौपदी मुर्मू को प्रत्याशी घोषित किया है तो विपक्ष ने यशवंत सिन्हा को कैंडिडेट बनाया है.

X
Droupadi Murmu (PTI) Droupadi Murmu (PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विपक्ष ने यशवंत सिन्हा को कैंडिडेट बनाया है
  • करीब 14 प्रतिशत वोट यूपी के पास हैं

राष्ट्रपति चुनाव में आदिवासी समुदाय की द्रौपदी मुर्मू को प्रत्याशी बनाकर एनडीए ने बड़ा सियासी दांव चला है. इसको लेकर उन लोगों को भी ये संदेश देने की कोशिश है कि महिला और आदिवासी समुदाय की द्रौपदी मुर्मू की जीत इस देश के वंचित समाज के लिए एक कोशिश है. ऐसे में द्रौपदी मुर्मू की जीत को तय करने में सबसे बड़ी भूमिका उत्तर प्रदेश की होगी. 

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष ने अपने-अपने पत्ते खोल दिए हैं. बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए ने द्रौपदी मुर्मू को प्रत्याशी घोषित किया है तो विपक्ष ने यशवंत सिन्हा को कैंडिडेट बनाया है. राष्ट्रपति के चुनाव में उत्तर प्रदेश की महत्वपूर्ण भूमिका रहने वाली है. वजह ये है कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए पड़ने वाले वोट्स में करीब 14 प्रतिशत वोट यूपी के पास हैं. ऐसे में देश के सबसे बड़े प्रदेश के सांसदों और विधायकों की भूमिका अहम रहने वाली है. 

द्रौपदी मुर्मू को यूपी से मिलेंगे इतने वोट

राष्ट्रपति चुनाव में सांसद और देश भर के राज्यों की विधानसभाओं के विधायक वोट डालते हैं. ऐसे में अगर संख्या को देखा जाए तो इस आंकड़े का करीब 14 प्रतिशत वोट यूपी के पास है. यूपी जैसी सर्वाधिक जनसंख्या वाले राज्य के साथ-साथ देश की सबसे ज्यादा लोकसभा और विधानसभा सीटें भी यहीं पर है. एक सांसद के वोट की वैल्यू 700 और एक विधायक के वोट की वैल्यू देश में सबसे ज्यादा यानि 208 है. ऐसे में अगर एनडीए (बीजेपी+सहयोगी) की स्थिति को देखें तो 64 लोकसभा सांसद हैं.

यूपी में अगर एक सांसद के वोट की वैल्यू 700 है तो ऐसे में एनडीए के यूपी से लोकसभा सांसदों के वोट की वैल्यू 44,800 होगी. वहीं, अगर राज्यसभा में बीजेपी सांसदों का मूल्य देखें तो सांसदों की संख्या 25 के वोट की कुल वैल्यू 17,500 है. इस तरह से लोकसभा और राज्यसभा सदस्यों के वोट मिलाकर देखते हैं तो 62300 वैल्यू वोट है. 

यूपी विधानसभा में कुल 403 सदस्य हैं...

अब उत्तर प्रदेश के विधायकों का वैल्यू देखें तो यूपी में 403 विधान सभा सदस्यों में बीजेपी और सहयोगी दलों के 273 विधायक हैं. एक विधायक की वैल्यू 208 के हिसाब से बीजेपी और सहयोगियों को मिलाकर उनके वोट का मूल्य 56,784 होगा. अब अगर समाजवादी पार्टी गठबंधन के विधायकों और सांसदों की संख्या के आधार पर उनके वोट की वैल्यू तय करें तो सपा गठबंधन के 125 विधायकों के वोट की वैल्यू 26,000 होगी. उसी तरह सपा के अभी 3 लोकसभा और 3 राज्यसभा सांसदों के वोट की कीमत 4200 है.

खास बात ये है कि अभी आजमगढ़ और रामपुर में चुनाव के बाद ये दो सांसद भी राष्ट्रपति चुनाव में वोट डाल पाएंगे. यूपी के सांसदों के वोट की गिनती में बीएसपी की भूमिका को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. बीएसपी के लोकसभा में 10 सांसद हैं तो वोट की वैल्यू 7000 हुई. ये संख्या भी अहम है पर जैसे बीएसपी सुप्रीमो मायावती आखिरी समय तक अपने पत्ते नहीं खोलती हैं, ऐसे में इन वोट्स पर भी सबकी नजर रहेगी. 

अगर उत्तर प्रदेश से राष्ट्रपति चुनाव में पड़ने वाले मतों को संख्या को देखें तो अभी की स्थिति में एनडीए की द्रौपदी मुर्मू को यूपी से मिलने वाले मतों की वैल्यू 1,19, 084 है. इसमें आज़मगढ़ -रामपुर के चुनाव नतीजे और क्रॉस वोटिंग या निर्दलीयों का झुकाव शामिल नहीं है. उसी तरह विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को विधायकों सपा के विधायकों के 26,000 और सांसदों (वर्तमान)और विपक्ष के सांसद सोनिया गांधी-कपिल सिब्बल-जयंत चौधरी जैसे वोट मिलाकर 37,716 वोट मिलना तय है. यूपी के मतों की संख्या देश भर के राष्ट्रपति चुनाव के लिए पड़ने वाले मतों का कुल 14.86 प्रतिशत है।

और भी दलों से समर्थन की उम्मीद 

द्रौपदी मुर्मू को यूपी से भी संख्या में वोट मिलने के बावजूद और वोट्स की ज़रूरत पड़ेगी. ऐसे में ओडिशा से आने की वजह से द्रौपदी मुर्मू को बीजेडी का समर्थन मिलने पर आस टिकी है. वहीं यूपी में मायावती पर भी नजर रहेगी जो वनवासी समाज और महिला होने के नाम पर अंतिम समय में अपना रुख तय कर सकती हैं. साथ ही आदिवासी समाज के लिए वाली मुर्मू को झारखंड मुक्ति मोर्चा का समर्थन दिलवाना भी एनडीए के रणनीतिकारों की सफलता तय करेगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें