scorecardresearch
 

UP: हाईकोर्ट ने 619 जजों का किया ट्रांसफर, ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का आदेश देने वाले जज भी शामिल

ट्रांसफर किए जजों में वाराणसी के सिविल जज रवि कुमार दिवाकर भी शामिल हैं, जिन्होंने हाल ही में कमिश्नर नियुक्त कर ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे का आदेश दिया था. इसके बाद उन्होंने कथित शिवलिंग मिलने वाली जगह को सील करने का भी आदेश दिया था.

X
ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे कराने वाले जज का तबादला (फाइल फोटो) ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे कराने वाले जज का तबादला (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हाईकोर्ट ने 619 जजों का किया ट्रांसफर
  • वाराणसी के सिविल जज रवि कुमार दिवाकर का भी तबादला

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 619 जजों का ट्रांसफर कर दिया. इनमें वाराणसी के वे जज भी शामिल हैं, जिन्होंने ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे कराने का आदेश दिया था. हाईकोर्ट ने जिन जजों का ट्रांसफर किया है, वे राज्य के विभिन्न जिलों में तैनात थे. 

20 जून को रजिस्ट्रार जनरल द्वारा जारी अधिसूचना में कहा गया है कि ट्रांसफर किए गए सभी जजों को 4 जुलाई तक चार्ज संभालने के लिए कहा गया है. जिन 619 जजों का ट्रांसफर हुआ है, उनमें 213 सिविल जज, 285 एडिशनल डिस्ट्रिक्ट और सेशन जज, 121 सिविल जज शामिल हैं. 

ट्रांसफर किए जजों में वाराणसी के सिविल जज रवि कुमार दिवाकर भी शामिल हैं, जिन्होंने हाल ही में कमिश्नर नियुक्त कर ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे का आदेश दिया था. इसके बाद उन्होंने कथित शिवलिंग मिलने वाली जगह को सील करने का भी आदेश दिया था. 
 
दरअसल,  कोर्ट के आदेश के बाद मस्जिद परिसर का सर्वे कराया गया था. इसके बाद हिंदू पक्ष ने दावा किया था कि इसमें शिवलिंग मिला है. वहीं, मुस्लिम पक्ष ने इस दावे को नकारते हुए कहा था कि यह फव्वारा है, जो आम तौर पर मस्जिदों में पाया जाता है. यहां नमाज के पहले वजू किया जाता है. 

 सिविल जज रवि कुमार दिवाकर का ट्रांसफर बरेली जिला कोर्ट में कर दिया गया है. दिवाकर ने हाल ही में उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर शिकायत की थी कि उन्हें जान से मारने की धमकी मिली है. उन्हें रजिस्ट्री पोस्ट करके जान से मारने की धमकी दी गई थी. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें