scorecardresearch
 

UP: DM का आदेश- 3 दिन में जमा कराओ वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र, वरना नहीं मिलेगी मई की सैलरी

जिलाधिकारी चंद्र विजय को सूचना मिली थी कि कई ऐसे विभाग हैं जिनमें कर्मचारियों ने अभी तक वैक्सीनेशन नहीं कराया है, इसको लेकर उन्होंने आदेश जारी कर दिया कि जिस सरकारी कर्मचारी ने वैक्सीनेशन नहीं कराया उसे मई का वेतन नहीं मिलेगा.

सांकेतिक तस्वीर (पीटीआई) सांकेतिक तस्वीर (पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सरकारी कर्मचारियों को 3 दिन में जमा कराना होगा प्रमाण पत्र
  • वरना सरकारी कर्मचारियों को नहीं मिलेगा मई महीने का वेतन
  • आदेश के बाद विकास भवन में कई कर्मचारी वैक्सीन लगवाते दिखे

कोरोना संकट की भयावहता को देखते हुए वैक्सीनेशन पर जोर दिया जा रहा है. उत्तर प्रदेश में भी बड़ी संख्या में लोग वैक्सीनेशन करा भी चुके हैं. लेकिन फिरोजाबाद के कई सरकारी विभाग ऐसे हैं,  जहां कर्मचारियों ने अब तक वैक्सीन नहीं लगवाई है तो वहां के जिलाधिकारी ने फरमान जारी कर दिया कि 3 दिन में टीकाकरण का प्रमाण पत्र जमा कराओ वरना सैलरी नहीं मिलेगी.

फिरोजाबाद के जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह को यह सूचना मिली थी कि कई ऐसे विभाग हैं जिनमें कर्मचारियों ने अभी तक वैक्सीनेशन नहीं कराया है, इसको लेकर डीएम ने एक आदेश जारी कर दिया कि जिस सरकारी कर्मचारी या अधिकारी ने अभी तक वैक्सीनेशन नहीं कराया उसको मई महीने का वेतन नहीं मिलेगा.

लेटर जारी होते ही मचा हड़कंप

इस आदेश के अनुसार जिला प्रोबेशन अधिकारी डॉक्टर प्रभा शंकर ने एक लेटर जारी किया, जिसमें कहा गया कि सभी कर्मचारी अपना कोविड प्रमाण पत्र 3 दिन के अंदर अधोहस्ताक्षरी कार्यालय में प्रस्तुत करें. इस लेटर के जारी होते ही सभी अधिकारी और कर्मचारियों में हड़कंप मच गया और वैक्सीन लगवाने पहुंचने लगे.

कई कर्मचारियों ने वैक्सीन भी लगवा ली. जब इस बारे में मुख्य विकास अधिकारी चर्चित गौड़ से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी ने आदेश दिया है कि जिन कर्मचारियों ने वैक्सीनेशन नहीं कराया है उन्हें वेतन नहीं मिलेगा.

इसे भी क्लिक करें --- Sputnik-V वैक्सीन जून के दूसरे हफ्ते से होगी उपलब्ध, अपोलो हॉस्पिटल के जरिए लगाया जाएगा टीका

गौरतलब है कि जिले में सैकड़ों की संख्या में सरकारी कर्मचारी हैं और बहुत सारे कर्मचारियों ने अपना वैक्सीनेशन नहीं कराया है. जिलाधिकारी को भी यह लगता है कि लोग लापरवाही कर रहे हैं. यदि सरकारी कर्मचारी ही वैक्सीनेशन नहीं कराएंगे तो आम लोगों पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ेगा. इसी को लेकर अब वैक्सीनेशन कराने के लिए सरकारी कर्मचारियों में तेजी आ गई है.

आदेश के बाद वैक्सीन लेने पहुंचे लोग

जब हमने खुद विकास भवन में जाकर देखा तो कई कर्मचारी वैक्सीन लगाते नजर आए और अभी तक न लगवाने के कई बहाने भी लेते आए. जिलाधिकारी की इस पहल से यह तो निश्चित है कि सभी सरकारी कर्मचारियों का वैक्सीनेशन हो जाएगा और इससे एक अच्छा संदेश भी जाएगा की कोरोना बचाव के लिए वैक्सीनेशन कराना बहुत ही आवश्यक है.

फिरोजाबाद के खंड अराव के ग्राम विकास अधिकारी अनिल कुमार ने कहा, 'मैं वैक्सीनेशन ही कराने आया हूं. अभी तक मैंने इसलिए नहीं कराया क्योंकि मेरी दवा चल रही थी, अब मैं वैक्सीन ले रहा हूं. सर ने जो आदेश किए हैं वह बिल्कुल सही है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें