scorecardresearch
 

अयोध्याः हाथ जोड़कर CM योगी से मिलने की गुहार लगाते रहे रेप पीड़िता के परिजन... तब तक निकल गया काफिला

अयोध्या दौरे पर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath)एक दलित के घर भोजन करने पहुंचे थे. इसी दौरान रेप पीड़ित बच्ची के परिजन वहां योगी से मिलने के लिए पहुंच गए. बच्ची के परिजन का कहना था कि रेप के दो आरोपी अभी गिरफ्त से बाहर हैं. वे सीएम योगी से इंसाफ मांगने आए हैं, लेकिन बच्ची के परिजन सीएम से नहीं मिल सके.

X
सीएम की सुरक्षा में मौजूद पुलिस. सीएम की सुरक्षा में मौजूद पुलिस.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दलित मनीराम और बसंती के घर खाना खा रहे थे सीएम योगी
  • पीड़ित बालिका के परिजन बोले- 2 आरोपी अभी गिरफ्त से बाहर

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) अयोध्या दौरे के समय दलित मनीराम और बसंती के घर खाना खा रहे थे. मुख्यमंत्री की सुरक्षा व्यवस्था में बड़ी संख्या में पुलिस बाहर मौजूद थी, लेकिन अचानक कुछ ऐसा हो गया कि अयोध्या पुलिस के पसीने छूट गए. जिस समय सीएम योगी दलित मनीराम के घर खाना खा रहे थे, उसी समय उस बच्ची के परिजन वहां पहुंच गए, जिसके साथ दरिंदों ने कुछ दिन पहले दुष्कर्म किया था.

लंबे समय तक लखनऊ मेडिकल कॉलेज में मौत से जूझने के बाद वह घर तो आ गई, लेकिन जीवन की सारी खुशियां छिन चुकी हैं. इस मामले में सीसीटीवी कैमरे की मदद से पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है, जबकि घरवाले लगातार कह रहे हैं कि इस घटना में दो अन्य अभियुक्त शामिल हैं. यह बात लखनऊ मेडिकल कॉलेज में जिंदगी से जद्दोजहद के बीच मासूम ने बताई थी. परिवार वाले अब बाकी दो आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस से लगातार फरियाद कर रहे हैं. वे इसी सिलसिले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने पहुंचे थे.

यह भी पढ़ेंः मुनव्वर राना ने शेयर की योगी की मां के साथ तस्वीर लिखा ...फरिश्ता हो जाऊं

बच्ची के परिजन हाथ जोड़कर और रो-रोकर मुख्यमंत्री से मिलने की फरियाद करते रहे. कभी इधर तो कभी उधर हाथ जोड़ते हुए वहां मौजूद पुलिसकर्मियों से मुख्यमंत्री से मिलने की गुहार लगाते रहे. उधर अयोध्या पुलिस उनकी मांग से परेशान होकर बार-बार कह रही थी कि रात में मिला देंगे. मुख्यमंत्री रात में रुकेंगे तो मिला देंगे. लगभग 10 मिनट के इस पूरे घटनाक्रम के दौरान पुलिस परेशान दिखाई दी. जब मुख्यमंत्री मनीराम के घर से भोजन करने के बाद अपनी गाड़ी में बैठ रहे थे, उस समय भी बच्ची के परिजनों ने पीछे-पीछे दौड़ लगा दी. वहीं पुलिसकर्मी भी पीछे-पीछे दौड़े. तब तक मुख्यमंत्री का काफिला आगे बढ़ गया. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें