scorecardresearch
 

सोनेलाल पटेल के परिवार में कलह, अनुप्रिया की छोटी बहन ने बड़ी बहन पल्लवी पर लगाए गंभीर आरोप

अपना दल के संस्थापक सोनेलाल पटेल की दो बेटियां अनुप्रिया पटेल और पल्लवी पटेल के बीच पहले से ही सियासी वर्चस्व के लिए अदावत जारी है. वहीं, अब सोनलाल पटेल की तीसरी बेटी अमन पटेल भी सामने आई हैं.

X
अमन पटेल और अनुप्रिया पटेल (फाइल फोटो)
अमन पटेल और अनुप्रिया पटेल (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सोनेलाल पटेल की विरासत पर मचा घमासान
  • छोटी बेटी ने बड़ी बहन पर लगाए गंभीर आरोप
  • कृष्णा पटेल की सुरक्षा के लिए डीजीपी को पत्र

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले अपना दल के संस्थापक सोनेलाल पटेल की विरासत को लेकर परिवार में कलह मची है. सोनेलाल पटेल की दो बेटियां अनुप्रिया पटेल और पल्लवी पटेल के बीच पहले से ही सियासी वर्चस्व के लिए अदावत जारी है. वहीं, अब सोनलाल पटेल की तीसरी बेटी अमन पटेल भी सामने आई हैं और मां कृष्णा पटेल की सुरक्षा की डीजीपी से गुहार लगाई है और साथ ही बड़ी बहन पल्लवी पटेल पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

सोनेलाल पटेल की सबसे छोटी बेटी अमन पटेल ने बुधवार को यूपी के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को पत्र लिखकर अपनी सबसे बड़ी बहन व अपना दल की कार्यकारी अध्यक्ष पल्लवी पटेल पर पिता की संपत्ति हड़पने का आरोप लगाया है. साथ ही माता कृष्णा पटेल को तत्काल सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराने की मांग की है. इसके अलावा उन्होंने बड़ी बहन और उनके पति पंकज निरंजन पर माता कृष्णा पटेल पर अनर्गल दबाव बनाने का भी आरोप लगाए हैं. 

अमन पटेल ने डीजीपी को लिखे पत्र में कहा है कि 2009 में पिता की मृत्यु के बाद मां कृष्णा पटेल व सभी बहनों की सहमति पर बड़ी बहन पल्लवी ने कानपुर स्थित पिताजी के समस्त कारोबार की बागडोर संभाली. उन्होंने आरोप लगाया है कि पिता की संपत्ति बिना किसी को जानकारी दिए हुए 2015 में ही बड़ी बहन ने अपने नाम वसीहत करा ली. उन्होंने दावा किया कि संपत्ति वसीयत के कुछ मूल दस्तावेज वसीयत पंजीकरण कार्यालय से कुछ दिन पहले ही मिलने के बाद उन्हें यह जानकारी हुई. 

अमन पटेल ने बड़ी बहन पल्लवी पटेल पर पति पंकज निरंजन को पिता के व्यावसायिक ट्रस्ट में बिना किसी जानकारी के सदस्य बनाने का भी आरोप लगाया. इतना ही नहीं पिता सोनलाल पटेल की राजनीति को भी खत्म करने के गभीर आरोप लगाए हैं.

मां को जबरन गोंडा से लड़वाया गया - अमन पटेल

उन्होंने पत्र में बताया है कि सक्रिय राजनीति के दौरान पिता सोनलाल पटेल की कर्मभूमि फूलपुर लोकसभा सीट थी. पिता की मृत्यु के बाद 2019 के लोकसभा चुनाव में माता कृष्णा पटेल को वहां से न लड़ाकर जबरन गोंडा जैसी नई सीट से चुनाव लड़ाया गया जबकि मां फूलपुर से चुनाव लड़ना चाहती थी. इसकी वजह से उन्हें हार का सामना करना पड़ा. फूलपुर सीट पर पल्लवी पटेल के पति पंकज निरंजन के चुनाव लड़ने पर भी अमन पटेल ने सवाल खड़े किए हैं. 

इसी तरह 2021 में प्रयागराज में एक सभा के दौरान पल्लवी पटेल को मां कृष्णा पटेल के द्वारा राजनीतिक उत्तराधिकारी घोषित किए जाने के मामले को जबरदस्ती कराया गया फैसला बताया. उन्होंने पैतृक संपत्ति के मामले को लेकर माता के साथ अप्रिय घटना घटने की आशंका जाहिर करते हुए सुरक्षा की मांग की है. 

बता दें कि केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की भी अदावत बहन पल्लवी पटेल से हैं, जिसके चलते अपना दल के दो गुटों में बंट गई है. एक की कमान अनुप्रिया पटेल और उनके पति आशीष पटेल के हाथों में है तो दूसरे की कमान मां कृष्णा पटेल और पल्लवी पटेल के हाथ में है. सोनलाल पटेल की तीसरी बेटी अमन पटेल भले ही राजनीति में नहीं उतरी हैं, लेकिन बड़ी बहन पर गंभीर आरोप लगाए हैं और मां की सुरक्षा की गुहार लगाई है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें