scorecardresearch
 

'आखिर PFI का जुर्म क्या है'...NIA की कार्रवाई पर सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क का सवाल

बीजेपी पर आरोप लगाते हुए सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि इन पाबंदियों के जरिए ये लोग मुसलमानों को बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं. यह पहला मौका नहीं है, जब किसी मुद्दे पर बर्क ने बीजेपी को घेरो हो. इससे पहले उन्होंने वक्फ संपत्तियों की जांच को लेकर भी योगी सरकार पर निशाना साधा था.

X
पीएफआई के समर्थन में आए सांसद शफीकुर्रहमान बर्क पीएफआई के समर्थन में आए सांसद शफीकुर्रहमान बर्क

अपने बयानों से सुर्खियों में रहने बाले संभल से सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यानी PFI के समर्थन में बयान दिया है. उन्होंने कहा कि वो एक पार्टी है, क्या अब कोई पार्टी भी नहीं चला सकता? PFI ने कोई गुनाह किया है क्या? बीजेपी बताए आखिर PFI का जुर्म क्या है? 

घबराई हुई है बीजेपी 
बीजेपी पर आरोप लगाते हुए बर्क ने कहा "इन पाबंदियों के जरिए ये लोग मुसलमानों को बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं". कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की तारीफ करते हुए बर्क ने कहा कि वो भारत को एक करने के लिए निकले हैं. बीजेपी घबराई हुई है. अगर पूरा मुल्क एक हो गया, तो इन्हें 50 सीटें भी नहीं मिलेंगी.

गौरतलब है कि एनआईए, ईडी और राज्यों की पुलिस ने कुल 15 राज्यों में रेड मारी है. इसमें पीएफआई से जुड़े 106 लोगों को अलग-अलग मामलों में गिरफ्तार किया गया है. PFI के 106 नेताओं और कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारियां हुई हैं. इनमें से एनआईए ने 45 लोगों को गिरफ्तार किया है. NIA के 300 अधिकारी ऑपरेशन का हिस्सा थे. 

इससे पहले बर्क ने बुधवार को वक्फ संपत्तियों की जांच को लेकर योगी सरकार पर हमला बोला था. इसमें उन्होंने कहा कि वक्फ संपत्तियों की जांच के पीछे भी मदरसों की तरह जांच कराकर मुस्लिमों को खौफजदा करने की साजिश रची जा रही है.

अब वक्फ की जांच कराकर भी देख लें
शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा "सरकार ने मदरसों की जांच कराकर देख लिया. अब वक्फ की जांच कराकर भी देख लें. हम किसी भी जांच के लिए मना नहीं कर रहे हैं. हम इससे डरते नहीं हैं. ये जांच केवल मुसलमानों को खौफजदा करने के लिए की जा रही हैं, जिससे 2024 के चुनाव में मुसलमान डर की वजह से भाजपा को वोट दें."

असल मुद्दों से ध्यान भटका रही सरकार
सपा सांसद ने कहा, "वक्फ संपत्तियों की जांच की बात करके ये लोग असल मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाना चाहते हैं. ये किसी भी तरह 2024 का चुनाव जीतने के लिए साजिश कर रहे हैं. मगर, ये होने वाला नहीं है क्योंकि पूरा विपक्ष एक होने जा रहा है."

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें