scorecardresearch
 

वक्फ संपत्तियों की जांच पर बिफरे सपा सांसद बर्क, जानिए क्यों कहा- संभल है मेरा किला

वक्फ संपत्तियों की जांच के आदेश के बाद सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने योगी सरकार पर हमला किया है. उन्होंने कहा कि इस तरह की जांचों का मकसद मुसलमानों को डराकर 2024 के लोकसभा चुनाव में उनका वोट लेना है. उन्होंने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा है. साथ ही बर्क ने मुसलमानों से एकजुट रहने की अपील भी की है.

X
सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क का यूपी सरकार पर हमला
सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क का यूपी सरकार पर हमला

मदरसों के सर्वे के बाद अब योगी सरकार ने वक्फ संपत्तियों की जांच के आदेश दिए हैं. इसको लेकर संभल से सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने सरकार पर हमला बोला है. बर्क का दावा है कि वक्फ संपत्तियों की जांच के पीछे भी मदरसों की तरह जांच कराकर मुस्लिमों को खौफजदा करने की साजिश रची जा रही है. सांसद ने नए संसद भवन पर केंद्र सरकार द्वारा किए गए खर्च पर सवाल भी उठाए हैं. 

शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा "सरकार ने मदरसों की जांच कराकर देख लिया. अब वक्फ की जांच कराकर भी देख ले. हम किसी भी जांच के लिए मना नहीं कर रहे हैं. हम इससे डरते नहीं हैं. ये जांच केवल मुसलमानों को खौफजदा करने के लिए की जा रही हैं, जिससे 2024 के चुनाव में मुसलमान डर की वजह से भाजपा को वोट दे."

असल मुद्दों से ध्यान भटका रही सरकार
सपा सांसद ने कहा, "वक्फ संपत्तियों की जांच की बात करके ये लोग असल मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाना चाहते हैं. ये किसी भी तरह 2024 का चुनाव जीतने के लिए साजिश कर रहे हैं. मगर, ये होने वाला नहीं है क्योंकि पूरा विपक्ष एक होने जा रहा है."

यूपी सरकार पूरी तरह फेल
बर्क ने सवाल किया, "मुसलमान बहुत गरीब है. सरकार बताए कि वो अपने बच्चों को कैसे पढ़ाएगा. भाजपा मुसलमानों की तालीम से खुश नहीं है. हिंदुस्तान में आज न जाने कितने इंसान भूखे मर रहे हैं. महंगाई आसमान छू रही है, लेकिन सरकार इसकी फिक्र करने के बजाय ऐसे कामों में जुटी हुई है. यूपी सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है. यूपी में हमारी मां-बहनें सुरक्षित नहीं हैं. अपराध पर कोई अंकुश नहीं लगा है."

नए संसद भवन पर सवाल
सांसद बर्क ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि देश के अरबों रुपये लेकर लोग भाग गए. सरकार की मदद से अडानी जैसे लोग इतनी ऊंचाई पर पहुंच गए. सरकार को बेरोजगारों और भूखों की फिक्र होती, तो नए संसद भवन पर इतना रुपया खर्च न किया जाता. 

आपस में न लड़े मुसलमान
मदरसों के सर्वे पर अरशद मदनी के समर्थन और फिरंगी महली के विरोध पर भी सपा सांसद ने अपनी राय दी. उन्होंने कहा, "मुसलमानों की आपस की यही लड़ाई नुकसान पहुंचा रही है. हम एक-दूसरे का विरोध करने पर कमजोर होंगे. मैं पूरी तरह से इसके खिलाफ हूं." 

संभल मेरा किला है
नीतीश कुमार और अखिलेश यादव के बीच गठबंधन के संकेत और संभल से गठबंधन के बड़े नेता के चुनाव लड़ने की अटले हैं. इस पर उन्होंने कहा, "इतनी दूर से यहां आकर चुनाव लड़ने की क्या जरूरत. मैं अपनी सीट बिल्कुल नहीं छोडूंगा. संभल मेरा किला है. इस पर हमला करने की सोच रखने वालों को समय आने पर बता दूंगा कि क्या हश्र होगा."

(रिपोर्ट- अभिनव माथुर)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें