scorecardresearch
 

नोएडा एयरपोर्ट तक एक्सप्रेस मेट्रो, दिल्ली की तरह कनेक्टिविटी पर विचार

उत्तर प्रदेश सरकार दिल्ली की तर्ज पर एक्सप्रेस मेट्रो को लेकर विचार कर रही है. एक्सप्रेस मेट्रो में स्टेशनों की संख्या कम हो और सफर में कम वक्त लगे. सरकार और यमुना प्राधिकरण दिल्ली एयरपोर्ट एक्सप्रेस मेट्रो लाइन का अध्ययन करके उसके अनुरुप डीपीआर में संशोधन करने की तैयारी में हैं

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • प्रशासन कर रहा दिल्ली के एयरपोर्ट रूट का अध्ययन
  • सरकार के निर्देश के बाद डीपीआर में संशोधन की तैयारी

नोएडा में बन रहे जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो सेवा के विस्तार की योजना है. यूपी सरकार का प्लान दिल्ली की तरह एयरपोर्ट तक तेज कनेक्टिविटी का है. यूपी सरकार के निर्देश के बाद दिल्ली की तरह नोएडा में भी नॉलेज पार्क से जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक एक्सप्रेस मेट्रो योजना पर विचार किया जा रहा है. अब प्रशासन इस मेट्रो को लेकर विस्तृत योजना तैयार करने में जुट गया है.

प्रदेश सरकार का मानना है कि नोएडा एयरपोर्ट तक जाने वाली मेट्रो को तेज कनेक्टिविटी की जरूरत होगी. एयरपोर्ट तक मेट्रो कनेक्टिविटी के लिए मिली मौजूदा डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) को देखें तो ऐसा संभव नहीं नजर आ रहा. अगर ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो 25 स्टेशनों पर रुकेगी तो करीब सवा से डेढ़ घंटे का वक्त लगेगा. ऐसे में एयरपोर्ट के यात्री इस मेट्रो सेवा का लाभ लेने से बचेंगे.

देखें- आजतक LIVE TV

यही वजह है कि उत्तर प्रदेश सरकार दिल्ली की तर्ज पर एक्सप्रेस मेट्रो को लेकर विचार कर रही है. एक्सप्रेस मेट्रो में स्टेशनों की संख्या कम हो और सफर में कम वक्त लगे. इसके साथ ही सरकार और यमुना प्राधिकरण दिल्ली एयरपोर्ट एक्सप्रेस मेट्रो लाइन का अध्ययन करके उसके अनुरुप डीपीआर में संशोधन करने की तैयारी में हैं.

गौरतलब है कि नोएडा एयरपोर्ट मेट्रो लाइन का निर्माण यमुना एक्सप्रेसवे के समानांतर कराया जाना है. इसके लिए डीपीआर भी सरकार को भेजी जा चुकी है. मौजूदा डीपीआर के मुताबिक नए रूट पर 25 स्टेशन होंगे. ग्रेटर नोएडा से होते हुए एयरपोर्ट तक मेट्रो ट्रेन को 25 स्टेशनों पर रोकने का प्रस्ताव है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें