scorecardresearch
 

मुख्तार अंसारी पर कसा शिकंजा, करीबियों की संपत्ति पर भी एक्शन की तैयारी

एलडीए मुख्तार की पत्नी और भाई को नोटिस देगा. इसमें जमीन और नक्शा पास कराये जाने के दस्तावेज़ों की मांग की जाएगी. इन कागजों के आधार पर उसका स्वामित्व तय होगा, और इसका जवाब देने के लिए तीस दिन का वक्त मिलेगा.

बाहुबली नेता मुख़्तार अंसारी बाहुबली नेता मुख़्तार अंसारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • करीबी लोगों की संपत्ति की होगी जांच
  • इसके लिए एलडीए ले रहा विधिक राय
  • जालसाजी पाए जाने पर होगी कार्रवाई

लखनऊ के डालीबाग इलाके में बाहुबली नेता मुख़्तार अंसारी का अवैध निर्माण गिराने के बाद उसके करीबी लोगों की अवैध संपत्ति गिराने के लिए लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) विधिक राय ले रहा है.
 
इन संपत्तियों में मुख्तार के भाई अफजाल अंसारी और उसकी पत्नी फरहत अंसारी की संपत्ति शामिल है. मुख़्तार अंसारी के बाद उसके परिवार के नाम पर भी अगर कोई संपत्ति है तो उसकी पूरी जांच होगी. अगर कोई जालसाजी पाई जाती है तो उस संपत्ति को गिराया जाएगा.
 
इस मामले मे एलडीए सोमवार को मुख्तार की पत्नी और भाई को नोटिस देगा. इसमें जमीन और नक्शा पास कराये जाने के दस्तावेज़ों की मांग की जाएगी. इन कागजों के आधार पर उसका स्वामित्व तय होगा, और इसका जवाब देने के लिए तीस दिन का वक्त मिलेगा. 

सूत्रों ने बताया कि मुख्तार अंसारी की तरह ही उसके भाई और पत्नी ने भी निष्क्रांत संपत्ति पर अवैध कब्जा किया हुआ है और अवैध निर्माण कराया है. एलडीए इन लोगों के अलावा भी निष्क्रांत संपत्तियों की पहचान करने में जुट गया है. इन संपत्तियों का एलडीए से नक्शा भी पास हो चुका है लेकिन अब इनके गिराने की कार्रवाई होगी. 

क्या होती है निष्क्रांत संपत्ति 
 
निष्क्रांत संपत्ति वो जमीन या मकान होते हैं जो आजादी से पहले उनकी थी जिसे लोग आजादी से पहले या बाद में भारत छोड़कर पाकिस्तान चले गए थे. उनकी जमीनें यूं ही पड़ी रहीं और बाद में उस पर किसी ने कब्जा कर लिया. इन्हें शत्रु संपत्ति भी कहा जाता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें