scorecardresearch
 

अतिक्रमण पर योगी सरकार सख्त, यूपी में सड़क किनारे बने सभी धार्मिक स्थलों को हटाने का निर्देश

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सड़क किनारे बने सभी धार्मिक स्थलों को हटाने को लेकर सख्त हो गई है. उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने आज गुरुवार को इस संबंध में सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि धार्मिक स्थलों के नाम पर किए गए अतिक्रमण हटाए जाएं.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल-ट्विटर) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल-ट्विटर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को पत्र लिखा
  • सड़क किनारे पर किए गए अतिक्रमण हटाए जाएंगे
  • सभी जिलाधिकारियों से 14 मार्च तक रिपोर्ट तलब की गई

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सड़क किनारे बने सभी धार्मिक स्थलों को हटाने को लेकर सख्त हो गई है. उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने आज गुरुवार को इस संबंध में सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि धार्मिक स्थलों के नाम पर किए गए अतिक्रमण हटाए जाएं.

राज्य के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर सड़क के किनारे बने सभी धार्मिक स्थलों को हटाने के निर्देश दिया है. सड़क किनारे धार्मिक स्थलों के नाम पर किए गए अतिक्रमण हटाए जाएंगे.

इस मामले पर सभी जिलाधिकारियों से 14 मार्च तक रिपोर्ट तलब की गई है, जिसमें जिले के अधिकारियों को ये बताना होगा कि आदेश के बाद कितने सार्वजनिक स्थलों को धार्मिक अतिक्रमण से खाली करवाया गया.

अयोध्या में बनेगा विश्वविद्यालय

इससे पहले योगी सरकार की ओर से अयोध्या के विकास का खाका तैयार कर लिया गया है. अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के साथ-साथ पूरे अयोध्या में भगवान राम से जुड़ी हुई तमाम योजनाओं पर काम शुरू होगा.

यही नहीं अयोध्या में भगवान राम के नाम का विश्वविद्यालय बनाने की भी तैयारी है. प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि अयोध्या में बनने वाले भगवान राम विश्वविद्यालय में भगवान राम से जुड़ी तमाम मान्यताएं, संस्कृति, ग्रंथ और हिंदू धर्म के बारे में पढ़ाया जाएगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें