scorecardresearch
 

केशव मौर्य बोले- बैठक में तय होगा लव जिहाद के खिलाफ कानून का खाका, अखाड़ा परिषद ने किया समर्थन

लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान का अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने भी समर्थन किया है. वहीं, सूबे के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि बैठक में इस कानून की रूप रेखा तय की जाएगी.

X
केशव प्रसाद मौर्य.(File) केशव प्रसाद मौर्य.(File)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अखाड़ा परिषद ने भी किया समर्थन
  • डिप्टी सीएम ने कहा- तय करेंगे कानून की रूपरेखा
  • हाईकोर्ट के फैसले का भी किया जिक्र

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लव जिहाद पर अंकुश लगाने की तैयारी में है. एक रैली में संबोधन के दौरान सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम लव जिहाद को लेकर कानून बनाएंगे. इसी कड़ी में अब उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि लव जिहाद पर कानून बनाने को लेकर बैठक में चर्चा होगी. इस दौरान इसकी रूप रेखा तय की जाएगी.

उन्होंने कहा कि, ''अब तो कोर्ट ने भी कहा है केवल शादी के लिए धर्म परिवर्तन करना ठीक नहीं है हम कोर्ट का सम्मान करते हैं. हम चाहते हैं कि कानून को लेकर किसी को कोई आपत्ति ना हो.'' मौर्य ने कहा कि, ''हमें प्रेम करने वालों से कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन साजिश के साथ ऐसे कृत्य को अंजाम देने वाले लोगों को माफ नहीं किया जाएगा''.

अखाड़ा परिषद का भी समर्थन

लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान का अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने भी समर्थन किया है. परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा है कि संत समाज के साथ ही साथ पूरा हिंदू समाज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग करता है कि लव जिहाद रोकने के लिए जल्द कठोर कानून बने और हिंदू बहन-बेटियों का जीवन बर्बाद होने से बचाया जा सके.

देखें-  आजतक LIVE TV

उन्होंने कहा है कि पिछले 15-20 साल में सरकारों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया जिससे लव जिहादियों का मनोबल काफी बढ़ा हुआ है. लव जिहादियों को ऐसा दंड मिले कि उनकी आने वाली पीढ़ियां भी याद रखें. महंत नरेंद्र गिरि ने कहा है कि लव जिहाद के विषय को बेहद गंभीरता से लेना चाहिए क्योंकि यह अपराध की श्रेणी में आता है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें