scorecardresearch
 

कानपुरः प्राइवेट स्कूल में हिंदू बच्चों को पढ़ाया जा रहा था 'कलमा', विवाद

उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक प्राइवेट स्कूल में बच्चों को कलमा पढ़ाए जाने को लेकर हंगामा हो गया है. मामला सामने आने के बाद हिंदू संगठनों और बच्चों के अभिभावकों ने स्कूल के बाहर प्रदर्शन कर नारेबाजी की. इसके बाद स्कूल प्रशासन ने छुट्टी कर स्कूल बंद कर दिया.

X
स्कूल के बाहर प्रदर्शन करते अभिभावक और हिंदू संगठनों के लोग.
स्कूल के बाहर प्रदर्शन करते अभिभावक और हिंदू संगठनों के लोग.

उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक प्राइवेट स्कूल में हिंदू छात्रों को मुस्लिम प्रार्थना कलमा पढ़ाए जाने को लेकर हंगामा हो गया. जानकारी होने के बाद हिंदू संगठनों ने अभिभावकों के साथ प्रदर्शन किया. इसके बाद स्कूल प्रशासन ने यह दावा करते हुए स्कूल में छुट्टी कर दी कि स्कूल में सभी धर्मों की प्रार्थनाएं कराई जाती थीं, लेकिन अब सभी प्रार्थनाएं बंद कर दी हैं. अब स्कूल में सिर्फ राष्ट्रगान होगा. स्कूल के बाहर तनाव को देखते हुए बाहर भारी फोर्स तैनात कर दी गई है.

प्राइवेट स्कूल के बाहर प्रदर्शन करने वाले हिंदू संगठनों और बच्चों के परिजन ने कहा कि स्कूल में उनके बच्चों को कलमा पढ़ाया जाता है. खुद छात्रों ने भी मुस्लिम प्रार्थना कराए जाने की बाद बताई है. इस बात की शिकायत सीएम पोर्टल और कानपुर पुलिस से की गई. सोमवार सुबह से ही छात्रों के परिजन स्कूल के बाहर प्रदर्शन करने पहुंच गए. उनके साथ हिंदू संगठनों ने भी नारेबाजी की.

स्कूल डायरी में छपी हैं सभी धर्मों की प्रार्थनाएं.
स्कूल डायरी में छपी हैं सभी धर्मों की प्रार्थनाएं.

बच्चों के परिजन का कहना है कि हम अपने बच्चों को मदरसे में पढ़ने नहीं भेजते जो उनको कलमा पढ़ाया जाए. एक इस संबंध में एक छात्र ने कहा कि स्कूल में मुस्लिम प्रार्थना कराई जाती है. वहीं एक छात्रा ने कहा कि स्कूल में पहले हिंदू प्रार्थना होती है, फिर मुस्लिम प्रार्थना कराई जाती है.

यह स्कूल पिछले 12 साल से संचालित हो रहा है. स्कूल संचालक सुमित माखीजा के शहर में तीन स्कूल हैं. इस स्कूल में लगभग 250 बच्चे पढ़ते हैं. स्कूल की प्रिंसिपल अर्चना का कहना है कि स्कूल के बाहर इस तरह प्रदर्शन करना ठीक नहीं है. हमने दबाव में आकर सब प्रार्थनाएं बंद करा दी हैं. अब केवल राष्ट्रगान होगा.

स्कूल डायरी में छपी हैं सभी धर्मों की प्रार्थनाएं.

सीसामऊ क्षेत्र के एसीपी निशंक शर्मा का कहना है कि अब यहां स्थिति सामान्य है. हंगामे के बाद स्कूल में छुट्टी कर दी गई है. स्कूल प्रशासन ने माना है कि उनके यहां सभी धर्मों की प्रार्थनाएं होती थीं. किसी ने शिकायत की थी, इसलिए सभी प्रार्थनाएं बंद करा दी गई हैं. अब सिर्फ राष्ट्रगान होगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें