scorecardresearch
 

Kanpur Clash: 3 FIR-35 गिरफ्तार-1000 अज्ञात, कानपुर में बवाल के बाद पुलिस का एक्शन शुरू

कानपुर हिंसा मामले में अब तक 35 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इन आरोपियों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी.  इलाके की बेगमगंज यतीमखाना नई सड़क इलाके को पुलिस ने छावनी में तब्दील कर दिया है.

X
कानपुर में शुक्रवार को दुकान बंद कराने को लेकर दो पक्षों के बीच बवाल हो गया. फोटो-PTI
कानपुर में शुक्रवार को दुकान बंद कराने को लेकर दो पक्षों के बीच बवाल हो गया. फोटो-PTI
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कानपुर हिंसा मामले में अब तक 35 गिरफ्तार
  • दंगाईयों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत होगी कार्रवाई

कानपुर के बेकनगंज में शुक्रवार को हुई हिंसा के मामले में तीन प्राथमिकी (FIR) दर्ज की गई है. इनमें से दो FIR पुलिस की तरफ से जबकि तीसरी FIR मारपीट व तोड़फोड़ के शिकार हुए शख्स की ओर से दर्ज कराई गई है. FIR में 40 लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है. वहीं, 1000 अज्ञात लोगों को भी आरोपी बनाया गया है. बता दें कि मामले में अब तक 35 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इन आरोपियों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी. उनकी संपत्तियों को जब्त किया जाएगा और बुल्डोजर भी चलेगा.

13 पुलिस कर्मी और 30 स्थानीय लोग भी हुए घायल

पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी ने जानकारी दी है कि कानपुर हिंसा में 13 पुलिस कर्मी भी घायल हुए हैं. साथ ही हिंसा में दोनों पक्ष के 30 लोग भी घायल हुए हैं.  कई गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की गई है. साथ ही कई दुकानों में भी लूटपाट हुई थी. पुलिस ने लूटपाट, मारपीट, बलवा समेत कई धाराओं में FIR दर्ज की है. उन्होंने बताया कि सीसीटीवी और वीडियो फुटेज के जरिए पहचान करने के बाद अब तक 35 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि पुलिस अधिकारी गाड़ियों से इलाके में राउंड लगा रहे हैं जबकि डीएम नेहा शर्मा, पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा, मंडल आयुक्त राजशेखर पैदल ही इलाके में गश्त कर लोगों में सुरक्षा का विश्वास जगा रहे हैं. इलाके की बेगमगंज यतीमखाना नई सड़क इलाके को पुलिस ने छावनी में तब्दील कर दिया है. 

इलाके में शांति बनाए रखने के लिए पुलिस गश्त कर रही है. फोटो-PTI

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार के मुताबिक, इस घटना को शासन ने बहुत गंभीरता से लिया है. घटना की गंभीरता को समझते हुए अतिरिक्त पुलिस बल भी तैनात किया गया है, जिसमें 12 कंपनी और एक प्लाटून पीएसी शामिल है. इसके अलावा सभी डीएसपी, पुलिस कमिश्नर, डीएम और मंडलायुक्त राजशेखर यतीमखाना पुलिस चौकी में डेरा जमाए हुए हैं. जिन लोगों ने भी उपद्रव किया है, उनकी पहचान की जा रही है. 

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने बताया कि कानपुर के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि राउंड द क्लॉक पुलिस प्रशासन की ड्यूटी लगे तथा हर हालत में शांति व्यवस्था बरकरार रहे. उत्तर प्रदेश शासन व पुलिस किसी भी स्थिति स्थिति में शांति व्यवस्था को भंग नहीं होने देगी. 

पुलिस को पर्याप्त मात्रा में मिले हैं वीडियो फुटेज

उधर, पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा ने कहा कि पुलिस को पर्याप्त वीडियो फुटेज मिले हैं. इसके जरिए दंगाईयों की पहचान की गई है. उन सभी के खिलाफ FIR दर्ज कर लिया गया है. सभी दंगाईयों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई होगी. इसके साथ उनकी संपत्ति जब्त होगी और उनके मकानों पर बुलडोजर भी चलेगा. स्थानीय लोगों से अपील है कि शांति व्यवस्था बनाए रखें. प्रशासन का सहयोग करें, उपद्रवियों पहचानने में हमारी मदद करें. 

उपद्रवियों पर काबू पाने की कोशिश करता पुलिस का एक जवान. फोटो-PTI

CM योगी ने कानपुर हिंसा की ली जानकारी, कहा- कठोर कार्रवाई करें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये प्रदेश के कानून व्यवस्था की समीक्षा की. इस दौरान उन्होंने कानपुर में हुई घटना की पुलिस कमिश्नर से जानकारी ली. इसके बाद उन्होंने दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया. उन्होंने कहा कि कानपुर की घटना में बिना किसी रियायत के कठोर कार्रवाई सुनिश्चित करें. अधिकारी छोटी से छोटी सूचना को गंभीरता से लें. 

आज कानपुर में रहेंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शुक्रवार को कानपुर में अपने पैतृक गांव पहुंचे थे. वे आज सुबह 11 बजे तक कानपुर में रहेंगे. आज वे मर्चेंट चेंबर में व्यापारियों की मीटिंग करेंगे. इस कार्यक्रम के मद्देनजर पुलिस हर तरफ से सख्ती बरत रही है. पुलिस ने बवाल वाले इलाके को चारों तरफ से घेर लिया है. सीसीटीवी फुटेज और वीडियो से एक-एक आरोपी की पहचान की जा रही है. 

कानपुर हिंसा मामले को लेकर मायावती ने उठाए ये सवाल

बसपा चीफ मायावती ने कहा है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के यूपी दौरे के दौरान ही कानपुर में दंगा व हिंसा भड़कना अति-दुःखद, दुर्भाग्यपूर्ण व चिंताजनक तथा पुलिस खुफिया तंत्र की भी विफलता का प्रतीक है. सरकार को समझना होगा कि शान्ति व्यवस्था के अभाव में प्रदेश में निवेश और यहां का विकास कैसे संभव है? 

मायावती ने कहा कि सरकार इस घटना की धर्म, जाति व दलगत राजनीति से ऊपर उठकर स्वतंत्र व निष्पक्ष उच्च-स्तरीय जांच कराकर दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करे ताकि ऐसी घटना आगे न हो. साथ ही, लोगों से शान्ति व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए उत्तेजक भाषणों आदि से बचने की भी अपील.

अखिलेश यादव का भाजपा नेता पर आरोप

कानपुर नगर में हुई हिंसा को लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी की नेता नूपुर शर्मा को गिरफ्तार करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा की ओर से दिए गए भड़काऊ बयान से कानपुर में जो अशांति हुई है, उसके लिए भाजपा नेता को गिरफ्तार किया जाए. हमारी सभी से शांति बनाए रखने की अपील करते हैं.

क्या है पूरा मामला

कानपुर नगर के बेकनगंज थाना क्षेत्र के नई सड़क इलाके में आज जुमे की नमाज के बाद से कुछ लोगों ने वहां की दुकानों को बंद करने का प्रयास किया, जिसका दूसरे पक्ष के लोगों ने विरोध किया. इस बात को लेकर आपस में टकराव हुआ पत्थरबाजी की घटना हुई. इस सूचना पर तत्काल पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस बल ने स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास किया. मौके पर पुलिस कमिश्नर समेत अन्य अधिकारी भी पहुंच गए और आवश्यक बल प्रयोग कर स्थिति को नियंत्रण में किया.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें