scorecardresearch
 

मेरठ में मस्जिदों में लोगों को समझा रहे, 'वैक्सीनेशन के बाद ही हज या उमरा पर जा सकेंगे'

स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी लगातार मस्जिदों में आने वाले लोगों को वैक्सीनेशन के लिए जागरूक कर रहे हैं और उनसे वैक्सीनेशन के लिए आह्वान करते नजर आ रहे हैं. मस्जिदों में और मस्जिदों के बाहर भी स्वास्थ्यकर्मी जागरूकता अभियान चला रहे हैं और फायदा गिना रहे हैं.

मेरठ में वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी (फोटो- आजतक) मेरठ में वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी (फोटो- आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मेरठ के कई इलाकों में धीमी है वैक्सीनेशन
  • लोगों को जागरूक करने का हो रहा है कार्य
  • मस्जिद के अंदर और बाहर चलाए जा रहे कई कार्यक्रम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में ज्यादा ये ज्यादा लोगों को कोरोना वैक्सीन देने का जिक्र किया. ताकि कोरोना को मात दिया जा सके. वहीं मेरठ के कुछ इलाकों में लोग अभी भी वैक्सीनेशन को लेकर असमंजस में हैं. जिससे इन क्षेत्रों में टीकाकरण का प्रतिशत काफी कम है. ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने इन इलाकों में वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार को बढ़ाने के लिए मस्जिदों से लोगों को जागरूक करने को कहा है. उनकी इस अपील पर मस्जिद लोगों को वैक्सीन के लिए प्रोत्साहित करने में जुट गई है.

स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी लगातार मस्जिदों में आने वाले लोगों को वैक्सीनेशन के लिए जागरूक कर रहे हैं और उनसे वैक्सीनेशन के लिए आह्वान करते नजर आ रहे हैं. मस्जिदों में और मस्जिदों के बाहर भी स्वास्थ्यकर्मी जागरूकता अभियान चला रहे हैं और फायदा गिना रहे हैं. उनको समझाया जा रहा है कि वैक्सीनेशन के बाद ही वो हज या उमरा पर जा सकेंगे.

मेरठ के कुछ मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी है. मकबरा डिग्गी, शकुरनगर, ज़ाकिर कॉलोनी, लक्खीपुरा, तारापुरी में अभी भी वैक्सीनेशन का प्रतिशत बहुत कम है. इन इलाकों में लोगों के भ्रम को दूर करने की कोशिश में अब स्वास्थ्य विभाग प्रयासरत है. 

और पढ़ें- जयपुर: मदरसे के एक कमरे में चल रहा अस्पताल, दो करोड़ में तैयार PHC भवन को खा रहा दीमक

मेरठ के नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लखीपुरा के प्रभारी डॉ कादिर अहमद खान का कहना है कि ये सभी मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र हैं. इन इलाकों में कई जगह, जहां टीकाकरण को लेकर लोगों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है और लोग टीकाकरण के लिए आगे नहीं आ रहे हैं. हालांकि स्वास्थ्य विभाग और उनकी टीम की तरफ से काफी प्रयास किए जा रहे हैं और लोगों को मस्जिदों में जाकर भी और मस्जिद के बाहर भी समझाया जा रहा है. अगर उनके अंदर टीकाकरण को लेकर कोई भ्रम की स्थिति है तो उसको दूर किया जा रहा है.

  

वहीं इस मामले में मेरठ के टीकाकरण प्रभारी डॉ प्रवीण गौतम का कहना है कि नगरीय क्षेत्र के लखीपुरा, जाकिर कॉलोनी, तारापुरी, मकबरा डिग्गी शकूर नगर जैसे मुस्लिम एरिया हैं, जहां पर टीकाकरण की रफ्तार कम है. यहां पर हम क्षेत्र के लोगों को धर्मगुरुओं के माध्यम से समझाने का प्रयास कर रहे हैं. उनका कहना है कि मुस्लिम क्षेत्रों में शिक्षा का अभाव है. इसलिए थोड़ी परेशानी आ रही है. लोगों को समझाया जा रहा है, जिसका फायदा भी देखने को मिल रहा है. डॉक्टर प्रवीण गौतम का कहना है कि बहुत से ऐसे गांव हैं जहां टीकाकरण कम हो रहा है. इन इलाकों में टीकाकरण के लिए मंदिर और मस्जिदों से ऐलान कराया जाएगा.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें