scorecardresearch
 

कोरोना वैक्सीन के बारे में अफवाह फैलाना पड़ा महंगा, 14 दिन की हुई जेल

वैक्सीन के बारे में अफवाह फैलाने वालों पर एक्शन लेने के लिए प्रशासन ने कड़े कदम उठाना शुरू कर दिया है. इसी संबंध में थाना सिरसागंज इलाके के गांव नगला धर्म निवासी प्रेम सिंह को 14 दिन को जेल भेज दिया गया है. आरोप है कि युवक ने वैक्सीन टीकाकरण के लिए गई टीम के साथ अभद्रता की और टीकाकरण के संबंध में अफवाह फैला रहा था.

फिरोजाबाद जेल फिरोजाबाद जेल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • वैक्सीन के बारे में अफवाह फैलाने वालों पर एक्शन शुरू
  • अफवाह फैलाने पर किया जा रहा है मुकदमा
  • फिरोजाबाद जिले में युवक को 14 दिन की जेल

कोरोना का टीका लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग बहुत ज्यादा मेहनत कर रहा है. शहरी इलाकों के लोग तो वैक्सीन लगवा रहे हैं. लेकिन देहात के लोगों में कोरोना टीके के प्रति उत्साह कम है, गांव में अफवाह भी फैली हुई है कि इस टीके को लगाने से दुष्परिणाम निकलेंगे. अफवाहों को सही मानते हुए ग्रामीण कोरोना टीके को न तो खुद लगवा रहे हैं और न ही दूसरों को लगने दे रहे हैं. लेकिन वैक्सीन के बारे में अफवाह फैलाने वालों पर एक्शन लेने के लिए प्रशासन ने कड़े कदम उठाना शुरू कर दिया है. मामला फिरोजाबाद जिले के थाना सिरसागंज इलाके का है जहां पुलिस ने गांव नगला धर्म निवासी प्रेम सिंह को 14 दिन के लिए जेल भेज दिया गया है.

गुजरात: 'वैक्सीन लगवाने से मौत' जैसी अफवाह, गांवों में उतरी मनोवैज्ञानिकों की टीम

दरअसल स्वास्थ्य विभाग की टीम कोविड-19 के टीकाकरण के लिए गांव नगला धर्म में गई थी. वहां प्रेम सिंह न केवल खुद टीका लगवाने से इंकार कर रहा था बल्कि बाकी लोगों को भी भड़का रहा था कि वैक्सीन लगने के बाद बुखार आएगा, दस्त हो जाएगा और कोरोना संक्रमण हो सकता है. इसके अलावा इस युवक ने गांव में टीकाकरण करने आई टीम को गाली भी दी और उनसे जमकर अभद्रता भी की.

स्वास्थ्य विभाग की तहरीर पर थाना सिरसागंज पुलिस ने प्रेम सिंह को अपनी हिरासत में लिया और मुकदमा दर्ज कर लिया. इस युवक पर आरोप लगाया है कि युवक ने वैक्सीन को गई टीम के साथ अभद्रता की है तथा टीकाकरण के संबंध में अफवाह फैला रहा था. फिलहाल युवक को न्यायालय ने 14 दिन के लिए जेल भेज दिया है.

मुख्य चिकित्सा अधिकारी नीता कुलश्रेष्ठ ने बताया कि लोग ग्रामीणों में अभी भी अफवाह फैला रहे हैं, हालांकि ग्राम प्रधान के माध्यम से तथा गांव के समझदार और बुजुर्गों के माध्यम से लोगों को समझाने का एक अभियान चलाया गया है. डॉक्टर नीता कुलश्रेष्ठ का कहना है कि मैं स्वयं भी कई गांव में आज गई थी. लोगों को समझाया है फिर भी कुछ लोग बाज नहीं आ रहे हैं. अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ प्रशासन सख्त कार्यवाही करेगा. इसलिए लोगों को भी अब किसी भी तरह की अफवाह नहीं फैलानी चाहिए, यह टीका लोगों का कोरोना से बचाव करता है. इसका कोई भी नुकसान नहीं है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें