scorecardresearch
 

लखीमपुर हिंसा पर 'आजतक' से बोलीं प्रियंका गांधी- पीड़ितों को सरकार का पैसा नहीं, न्याय चाहिए

आजतक के साथ खास बातचीत में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि पीड़ितों को सरकार का पैसा नहीं, न्याय चाहिए. पुलिस पीड़ितों को सम्मान दे रही है.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (फाइल-पीटीआई) कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (फाइल-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'सारे सबूत सामने हैं, कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही'
  • 'गरीब, दलित, किसान या महिला के लिए न्याय नहीं'
  • मंत्री के रहते निष्पक्ष जांच की उम्मीद नहींः प्रियंका

लखीमपुर खीरी हिंसा के मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पूरे मामले पर सरकार को जिम्मेदारी लेनी चाहिए. दलितों और गरीबों को देश में न्याय नहीं मिल रहा. पूरी तरह से आरोपियों को बचाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि पीड़ितों को सरकार का पैसा नहीं बल्कि न्याय चाहिए.

आजतक के साथ खास बातचीत में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा कि पीड़ितों को सरकार का पैसा नहीं, न्याय चाहिए. पुलिस पीड़ितों को सम्मान दे रही है. उन्होंने कहा कि पुलिस फिजुल के कामों में लगी है. पुलिस विपक्ष के नेताओं को रोकने में लगी है. सारे सबूत सामने हैं, लेकिन कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है.

उन्होंने पीड़ितों के बारे में बताया कि जब मैं उनसे मिलने गई तो एक बात बहुत साफ निकली तो उनको सरकार की ओर से 45 लाख का मुआवजा मिला है. छत्तीसगढ़ और पंजाब की ओर से 50-50 लाख का मुआवजा मिलने वाला है. वो कहते हैं कि हमें एक पैसा नहीं चाहिए. हमें इंसाफ चाहिए. हमें न्याय चाहिए. 

'गरीब, दलित, महिला के लिए न्याय नहीं'

उन्होंने कहा कि देश-दुनिया में हमें ऐसा मिसाल दिखा दीजिए जहां पर एक अपराधी जिसे पर कत्ल का आरोप है, पुलिस उसे आमंत्रित करती है कि आकर हमसे बात करो. एक समय देती है कि आइए. ऐसा मिसाल कहीं पर देखा है. अगर अपराधी के पिता गृह राज्य मंत्री हैं तो निष्पक्ष कार्रवाई की उम्मीद कैसे कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि आप सत्ता में हैं अमीर हैं. भाजपा में हैं तो देश में आप के लिए न्याय है. लेकिन अगर आप गरीब, दलित, किसान या महिला हैं तो न्याय की व्यवस्था है ही नहीं. 

इसे भी क्लिक करें --- लखीमपुर हिंसाः जिस गेस्ट हाउस में हिरासत में रखा गया, वहां झाड़ू लगाती दिखीं प्रियंका गांधी, Video

केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग करते हुए प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि अजय मिश्रा को इस्तीफा देना चाहिए. उनके मंत्री रहते कैसे निष्पक्ष जांच हो सकती है. जांच होने तक उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए.

'PM क्या मैसेज देना चाहते हैं'

लखीमपुर हिंसा पर जांच की मांग करते हुए प्रियंका ने कहा कि पूरे मामले की जांच सिटिंग सुप्रीम कोर्ट या हाई कोर्ट के जज के द्वारा होनी चाहिए. और तब भी ये गृह राज्य मंत्री रहे तब भी निष्पक्ष जांच संभव नहीं है. मंत्री के रहते निष्पक्ष जांच की उम्मीद नहीं कर सकते.

हादसे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि लखनऊ आकर प्रधानमंत्री ने एक भी शब्द नहीं कहा. प्रधानमंत्री देश को आखिर क्या मैसेज देना चाहते हैं. प्रधानमंत्री ने यह भी नहीं कहा कि यह अन्याय हुआ है. 

लखीमपुर खीरी हिंसा के मामले में प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं हमेशा जनता के दुख दर्द में साथ रहती हू्ं. 

सीएम ने करोड़ों महिलाओं का अपमानः प्रियंका गांधी 
CM योगी आदित्यनाथ के झाड़ू लगाने वाले बयान पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, 'मैं आज दलित बस्ती इसलिए गई क्योंकि मेरे प्रति यह निंदनीय बयान नहीं है. ये बयान उन करोड़ों सफाईकर्मियों के प्रति और उन करोड़ों महिलाओं के प्रति हमारे दलित भाई-बहन के प्रति अपमान है. सीएम ने करोड़ों महिलाओं का अपमान किया. मैं वहां इसलिए गई ताकि यह समझा सकूं कि यह गलत मानसिकता है.'

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रियंका गांधी वाड्रा के गेस्ट हाउस में झाड़ू लगाने के वायरल हुए वीडियो पर कहा, 'जनता उनको उसी लायक बनाना चाहती है और जनता ने उन्हें उसी लायक बना दिया है. इनके पास उपद्रव करने और नकारात्मकता फैलाने के अलावा कोई काम नहीं है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×