scorecardresearch
 

साक्षी महाराज ने मदरसों को बताया आतंकवाद की शि‍क्षा का गढ़, 'लव जेहाद' के लिए विदेश से आता है पैसा

बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने विवादित बयान दे दिया है. उन्होंने कहा कि लव जेहाद के लिए विदेशों से पैसा आ रहा है और इसके लिए हर धर्म का अलग रेट तय है. यही नहीं, उन्होंने कहा कि मदरसों को आतंकवाद का पाठ पढ़ाया जाता है और मदरसे आतंकवाद की शि‍क्षा का गठ हैं.

X
बीजेपी सांसद साक्षी महाराज बीजेपी सांसद साक्षी महाराज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार को संप्रदायवाद के साये से दूर रखना चाहते हैं, लेकिन इसे धता बताते हुए बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने विवादित बयान दे दिया है. उन्होंने कहा कि लव जेहाद के लिए विदेशों से पैसा आ रहा है और इसके लिए हर धर्म का अलग रेट तय है. यही नहीं, उन्होंने कहा कि मदरसों को आतंकवाद का पाठ पढ़ाया जाता है और मदरसे आतंकवाद की शि‍क्षा का गठ हैं.

यूपी के उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज ने नादेमउ में आयोजित एक समारोह से इतर संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि मदरसों में राष्ट्रीयता की शिक्षा नहीं दी जाती. उन्होंने कहा कि मुझे यहां पर एक भी मदरसा बता दें जहां 15 अगस्त 26 जनवरी को तिरंगा फहराया जाता है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा, 'मदरसों में आतंकवाद की शिक्षा दी जाती है. वहां केवल कुरान की शिक्षा देकर आतंकवादी और जेहादी बनाना राष्ट्र के हित में नहीं है.'

मदरसों को सरकारी सहायता पर भी सवाल
बीजेपी सांसद ने मदरसों को शासकीय सहायता दिए जाने पर सवाल खड़े करते हुए कहा, 'हमारे अधिकांश स्कूल सरकार से कोई सहायता नहीं लेते हैं, जबकि राष्ट्रीयता से वास्ता नहीं रखने वाले सभी मदरसों को सरकारी सहायता दी जाती है.' इस बीच सांसद के बोल पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए सपा के प्रांतीय प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने इसे बचाकाना, विभाजनकारी और निंदनीय बताया है. चौधरी ने कहा कि साक्षी महाराज ने अपनी पार्टी की राह पर चलते हुए नफरत भरा बयान दिया है. इसका मकसद समाज को बांटना और विभिन्न वर्गों के बीच दूरियां पैदा करना है. ऐसे लोगों के बयानों पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है.

चौधरी ने आगे कहा कि कोई भी धर्म आतंकवाद की रहनुमाई या हिमायत नहीं करता है और साक्षी महाराज द्वारा इस्लाम और मदरसों को दहशतगर्दी से जोड़ना घोर आपत्तिजनक है.

अपरिपक्व हैं साक्षी महाराज
दूसरी ओर, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने साक्षी महाराज के बयान को हास्यास्पद करार देते हुए कहा कि अगर बीजेपी सांसद को कुरान और भाईचारे की शिक्षा देने वाले इस्लाम के बारे में रत्तीभर भी इल्म होता तो वह ऐसा बयान नहीं देते. मौलाना ने कहा कि हर शिक्षण संस्थान का अपना पाठ्यक्रम होता है और मदरसों की शिक्षण व्यवस्था को आतंकवाद की शिक्षा से जोड़ना साक्षी महाराज की अज्ञानता, नासमझी और अपरिपक्वता की निशानी है.

सुबूत है तो सबके सामने रखें: कांग्रेस
साक्षी महाराज के बयान की कांग्रेस की ओर से मनीष तिवारी ने भी निंदा की है. उन्होंने कहा कि अगर ऐसे आरोपों को लेकर बीजेपी सांसद के पास कोई सुबूत है तो उसे सामने रखें. अन्यथा ऐसे अनर्गल बयानों की समाज में कोई जगह नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें