scorecardresearch
 

योगी आदित्यनाथ बोले- कश्मीरी पंडितों का जबरन धर्मांतरण कराता था औरंगजेब

आदित्यनाथ ने कहा कि मुगल बादशाह का जब अत्याचार शुरू हुआ तो औरंगजेब से मुक्ति पाने के लिए कश्मीरी पंडितों का एक समूह गुरु तेग बहादुर के पास दिल्ली में आता है और अपनी पीड़ा बताता है कि जबरदस्ती हमारा धर्मांतरण हो रहा है.

X
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुगल बादशाह अकबर के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक और मुगल शासक औरंगजेब पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि औरंगजेब ने कश्मीरी पंडितों को धर्मांतरण के लिए मजबूर किया था. लखनऊ में बंजारा समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने बुधवार को यह बात कही.

आदित्यनाथ ने कहा कि मुगल बादशाह का जब अत्याचार शुरू हुआ तो औरंगजेब से मुक्ति पाने के लिए कश्मीरी पंडितों का एक समूह गुरु तेग बहादुर के पास दिल्ली में आता है और अपनी पीड़ा बताता है कि जबरदस्ती हमारा धर्मांतरण हो रहा है.

कश्मीरी पंडितों ने बताया कि हमें दबाया जा रहा है, अपमानित किया जा रहा है. गुरु तेग बहादुर सिखों के नौवें गुरु थे. आदित्यनाथ ने कहा कि गुरु बहादुर कश्मीरी पंडितों की सुरक्षा में आगे आए और उन्होंने कश्मीर पंडितों से कहा कि औरंगजेब से जाकर कहो कि धर्मांतरण के लिए तैयार हैं, लेकिन तभी जब उनके गुरु धर्मांतरण करेंगे तभी.  औरंगजेब को लगा यह बहुत आसान काम है और औरंगजेब ने गुरु तेग बहादुर को गिरफ्तार कर उन्हें यातनाएं देनी शुरू कर दी, लेकिन उन्हें टस से मस नहीं कर पाया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि उस वक्त बंजारा समुदाय के लोग गुरु तेग बहादुर के सम्मान में खड़े हुए थे. इसलिए बंजारा समुदाय के लोगों को देश और समाज के लिए किए गए अपने पूर्वजों पर गर्व करना चाहिए.

गौरतलब है कि अभी कुछ दिन पहले ही आदित्यनाथ ने कहा था कि मुगल बादशाह अकबर महान नहीं था और 16वीं शताब्दी के मेवाड़ राजा महाराणा प्रताप महान थे. अरावली की पहाड़ियों में कई साल तक लड़ने के बाद महाराणा प्रताप ने अपना राज्य वापस जीता था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें