scorecardresearch
 

यूपीः घोसी के बसपा सांसद अतुल राय को बड़ी राहत, रेप के मामले में MP-MLA कोर्ट से बरी

उत्तर प्रदेश की घोसी लोकसभा सीट से बहुजन समाज पार्टी के सांसद अतुल राय को एमपी-एमएलए कोर्ट ने रेप के मामले में बरी कर दिया है. अतुल राय को वाराणसी की एमपी-एमएलए कोर्ट ने रेप के मामले में बरी कर दिया है. अतुल राय के खिलाफ रेप का ये मामला साल 2019 के लोकसभा चुनाव के समय से ही चल रहा था.

X
अतुल राय (फाइल फोटो) अतुल राय (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले की घोसी लोकसभा सीट से सांसद अतुल राय को कोर्ट से बड़ी राहत मिल गई है. बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के सांसद अतुल राय को कोर्ट ने रेप के मामले में बरी कर दिया है. वाराणसी की एमएपी-एमएलए कोर्ट ने रेप के मामले में शनिवार को फैसला सुनाया.

न्यायाधीश सियाराम चौरसिया की अदालत ने बसपा सांसद अतुल राय को रेप के तीन साल पुराने मामले में बरी कर दिया है. कोर्ट के फैसले की जानकारी जैसे ही बाहर आई, सांसद अतुल राय के समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई. अतुल राय पर रेप का आरोप साल 2019 के लोकसभा चुनाव के समय लगा था.

2019 से चल रहा था केस

अतुल राय के खिलाफ रेप का केस साल 2019 से ही चल रहा था. कोर्ट ने सुनवाई पूरी होने के बाद इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया था. कोर्ट ने अब अपना फैसला सुना दिया है और बसपा सांसद अतुल राय को कोर्ट ने बरी कर दिया है. गौरतलब है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान बसपा के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे अतुल राय के खिलाफ वाराणसी के यूपी कॉलेज की एक पूर्व छात्रा ने रेप का मुकदमा दर्ज कराया था.

अतुल राय और उनके समर्थकों ने मुख्तार अंसारी पर साजिश के तहत ऐन चुनाव के वक्त फर्जी केस दर्ज कराकर फंसाने का आरोप लगाया था. कहा ये भी गया था कि मुख्तार अंसारी घोसी सीट से अपने बेटे अब्बास अंसारी को बसपा के टिकट पर चुनाव मैदान में उतारना चाहते थे लेकिन उनके करीबी रहे अतुल ने बाजी मार ली. बसपा ने अब्बास की जगह अतुल राय को टिकट दे दिया था.

1 मई 2019 को दर्ज हुआ था केस

यूपी कॉलेज की पूर्व छात्रा ने 1 मई 2019 को वाराणसी के लंका थाने में तहरीर देकर मामला दर्ज कराया था. युवती ने तहरीर में ये कहा था कि अतुल राय से उसका परिचय पढ़ाई के दौरान हुआ था. आरोप था कि अतुल राय 7 मार्च 2018 को अपनी पत्नी से मिलवाने के बहाने उसे चितईपुर स्थित अपने फ्लैट पर ले गए और वहां उसके साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया.

युवती ने अतुल राय पर रेप कर उसकी फोटो और वीडियो भी बना लेने का आरोप लगाया था और ये भी कहा था कि वीडियो के जरिये ब्लैकमेल कर वे उसके साथ बार-बार रेप करते रहे. युवती ने आरोप लगाया था कि अपने साथ रेप का विरोध करने पर अतुल राय उसे उसके परिवार को देख लेने की धमकी देते थे.

सांसद बनने के बाद किया था सरेंडर

रेप के मामले में फंसे अतुल राय लोकसभा चुनाव का परिणाम घोषित होने तक फरार रहे. अतुल राय ने लोकसभा चुनाव में जीत के बाद 22 जून 2019 को वाराणसी की कोर्ट में सरेंडर कर दिया था. अतुल राय फिलहाल जेल में बंद हैं. बता दें कि अतुल राय पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता ने 16 अगस्त 2021 को अपने सहयोगी सत्यम राय के साथ सुप्रीम कोर्ट के सामने फेसबुक लाइव कर आत्मदाह कर लिया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें