scorecardresearch
 
उत्तर प्रदेश

आगरा का श्रीपारस अस्पताल 'मौत की मॉक ड्रिल' के बाद सील, डीएम ने बताया हैरान करने वाला सच

आगरा का श्रीपारस हॉस्पिटल सीज
  • 1/7

कोरोना पीक के दौरान जब पूरे देश में हाहाकार मचा था, उस दौरान आगरा के पार श्री पारस हॉस्पिटल में मरीजों की छंटनी करने के लिए मॉक ड्रिल किया गया. पांच मिनट के लिए ऑक्सीजन बंद कर हुए इस मॉक ड्रिल में 22 मरीजों का दम घुटने लगा, उनके हाथ पैर पीले पड़ गए. मौत के इस खेल का पूरा वाकया डॉक्टर ने अपनी जुबां से बयान किया, जिसका वीडियो वायरल होने पर हड़कंप मच गया. इस मामले में मंगलवार को जिलाधिकारी खुद हॉस्पिटल पहुंचे. दो घंटे तक यहां रुकने के बाद डीएम ने हॉस्पिटल को सील करने का आदेश दिया. 

 आगरा का श्रीपारस हॉस्पिटल सीज
  • 2/7

भगवान टॉकीज के पास न्यू आगरा थाना क्षेत्र स्थित श्रीपारस हॉस्पिटल के संचालक डॉ. अरिंजय जैन के वायरल वीडियो से जिस तरह इस पूरे मामले का खुलासा हुआ, उससे आक्रोश फैला हुआ है. इस मामले के चार वीडियो वायरल हुए, जिसमें अस्पताल संचालक डॉ. अरिंजय जैन खुद वीडियो में दिखाई दे रहे हैं. वीडियो में डॉ. जैन कहते नजर आ रहे हैं कि बस पांच मिनट ऑक्सीजन बंद करते ही 22 मरीज छट गए. उस समय पारस हॉस्पिटल में 97 मरीज भर्ती थे.

आगरा का श्रीपारस हॉस्पिटल सीज
  • 3/7

हालांकि, इस मामले में जिलाधिकारी पीएन सिंह ने बताया कि वायरल वीडियो को जिस तरह पेश किया जा रहा है, उसमें तथ्य सही नहीं हैं. 22 मरीजों की मौत होने के मामले में सत्यता नहीं है. यह वीडियो 26 अप्रैल की सुबह का बताया जा रहा है. उस समय हॉस्पिटल में 97 मरीज भर्ती थे. 26 तारीख को चार मरीजों की मौत हुई थी, जब​कि 27 अप्रैल को तीन मरीजों की मौत हुई थी. उन्होंने कहा कि जिले में एक दो दिन ऑक्सीजन की कमी हुई थी, लेकिन बाद में सप्लाई सुचारू रूप से शुरू हो गई थी. वहीं वीडियो में जो चीजें सामने आई हैं, उस मामले में जांच की जा रही है. 

आगरा का श्रीपारस हॉस्पिटल सीज
  • 4/7

वहीं, श्रीपारस हॉस्पिटल के संचालक डॉ. अरिंजय जैन ने कहा कि वीडियो में जो बताया जा रहा है, ऐसा नहीं है. मरीजों के ऑक्सीजन लेवल को जांचने के लिए एक प्रयास किया था, क्योंकि उन दिनों ऑक्सीजन की भारी किल्लत थी. मरीजों को बचाना चाहते थे. इसलिए अपने आईसीयू स्टाफ के साथ सभी मरीजों का ऑक्सीजन लेवल जांचने की बात की जा रही थी. उन दिनों ऑक्सीजन को किल्लत थी और हम ये देखना चाहते थे कि अगर ऑक्सीजन सप्लाई बंद हो जाती है या समय पर नहीं मिल पाती है तो वो कौन से मरीज होंगे जिन्हें हाई लेवल ऑक्सीजन की जरूरत होगी. इस मामले में चर्चा हो रही थी. 

 आगरा का श्रीपारस हॉस्पिटल सीज
  • 5/7

मंगलवार सुबह श्रीपारस हॉस्पिटल पहुंचे जिलाधिकारी ने दो घंटे की जांच के बाद हॉस्पिटल को सील करने के आदेश दिए. उन्होंने कहा कि पारस हॉस्पिटल के संचालक डॉ. अरिंजय जैन के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा कायम होगा. यह मुकदमा उनके द्वारा वीडियो में मोदीनगर में ऑक्सीजन खत्म होने की भ्रामक सूचना के कारण दर्ज किया जाएगा.

आगरा का श्रीपारस हॉस्पिटल सीज
  • 6/7

जिलाधिकारी ने बताया कि हॉस्पिटल में 55 मरीज भर्ती हैं. इन मरीजों को दूसरे हॉस्पिटल में शिफ्ट कराने की कार्रवाई की जा रही है. इसके लिए आगरा सीएमओ को जिम्मेदारी सौंपी गई है.

आगरा का श्रीपारस हॉस्पिटल सीज
  • 7/7

वहीं, श्रीपारस हॉस्पिटल की जांच के लिए पहुंचे तमाम अधिकारियों के सामने हंगामा हो गया. हॉस्पिटल संचालक की इस बड़ी लापरवाही पर कांग्रेसियों ने हॉस्पिटल के बाहर हंगामा किया. इस दौरान हॉस्पिटल के कर्मचारी वहां आ गए. दोनों ओर से तकरार शुरू हो गई. मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने किसी तरह मामले को शांत कराया.