scorecardresearch
 

5 वजहें, क्यों दुनिया का सबसे खतरनाक आतंकी संगठन है ISIS

आईएसआईएस ने पिछले साल में इतनी तबाही मचाई है, जो अलकायदा दो दशकों में भी नहीं कर पाया. पहले फ्रांस और अब ब्रसेल्स में हमला कर आईएसआईएस ने जता दिया है कि उसे काबू नहीं किया जा सकता. जानिए वो खास वजहें, जिनसे साबित होता है कि ये दुनिया का सबसे खतरनाक आतंकी संगठन है.

पूरी दुनिया के लिए स‍िरदर्द बना ISIS पूरी दुनिया के लिए स‍िरदर्द बना ISIS

आईएसआईएस ने पिछले साल में इतनी तबाही मचाई है, जो अलकायदा दो दशकों में भी नहीं कर पाया. पहले फ्रांस और अब ब्रसेल्स में हमला कर आईएसआईएस ने जता दिया है कि उसे काबू नहीं किया जा सकता. जानिए वो खास वजहें, जिनसे साबित होता है कि ये दुनिया का सबसे खतरनाक आतंकी संगठन है.

1. दुनिया का सबसे अमीर आतंकी संगठन
आईएसआईएस की ताकत के पीछे उसकी संपत्त‍ि है. आईएसआईएस दुनिया का सबसे अमीर आतंकी संगठन है. जून 2014 में ही इस आतंकी संगठन के पास दो अरब अमेरिकी डॉलर (लगभग 12,634 करोड़ रुपये) थे. आईएसआईएस इराक की बैंकों से लूटे गए फंड को मिडिल ईस्ट की स्टॉक मार्केट्स में इन्वेस्ट कर रहा है. इससे आतंकी संगठन को हर महीने 125 करोड़ रुपये की कमाई हो रही है. इराक और जॉर्डन की ही कुछ फाइनेंशियल अथॉरिटीज इसमें उसकी मदद कर रही हैं. ब्रिटेन की पार्लियामेंट्री कमेटी की एक रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है.

2. लड़ाकों की संख्या
हाल में इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में काउंटर टेररिज्म एक्सपर्ट डेनियल बेंजामिन ने बताया था कि‍ ISIS में दुनियाभर से 30 हजार युवा भर्ती हो चुके हैं. आपके जानकर हैरानी होगी कि इस आतंकी संगठन से 90 से ज्यादा देशों के लोग जुड़े हुए हैं.

3. सीरिया, इराक में ठिकाने
इस आतंकी संगठन ने सीरिया और इराक के बड़े हिस्से में कब्जा किया हुआ है, जहां से इसे आसानी से ऑपरेट किया जा रहा है. आईएसआईएस के लिए यह सेफ हेवेन है. जबकि अलकायदा, लश्कर-ए-तैयबा या जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों को इस तरह के सुरक्षित और इतने बड़े ठिकाने कभी नहीं मिले.

4. रासायनिक हथ‍ियार
अमरीका की खुफिया एजेंसिया बता चुकी है कि इस्लामिक स्टेट इराक और सीरिया में रासायनिक हथियार न केवल बना रहा है बल्कि इस्तेमाल भी कर रहा है. अमेरिकी सेनाओं ने एक आतंकी से मिली सूचना के आधार पर मार्च में इस्लामिक स्टेट के रासायनिक हथियार स्थलों पर पहली बार हवाई हमले भी किए थे.

5. खूंखार बच्चों की फौज
आतंकियों की फौज बनाने के लिए आईएसआईएस अब अनाथ बच्चों का सहारा ले रहा है. संगठन ने एक नया प्रोपेगैंडा वीडियो जारी किया है. इसमें आतंकी अनाथ बच्चों की देखभाल करते और उन्हें ट्रेनिंग देते दिख रहे हैं. जेहादी जूनियर नाम से मशहूर चार साल के बच्चे ने भी जासूसी के आरोप में चार लोगों को बम से उड़ा दिया था. यह लड़का आईएसआईएस के लिए काम करता था. इससे पहले भी कई बच्चे ISIS के फिदायीन हमलों में शामिल रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें