scorecardresearch
 

काशी हो या कहीं और, मंदिर केवल पूजा नहीं, हमारी आस्था के भी केंद्र: PM मोदी

पीएम ने कहा कि काशी विश्वनाथ धाम मैं नहीं बना रहा हूं, ये काम कोई नहीं कर सकता, ये सब तो भोले बाबा के आशीर्वाद से हो रहा है. इतना बड़ा कार्य केवल सरकार और प्रशासन के द्वारा संभव नहीं हो रहा है बल्कि इसमें 300 परिवारों ने अपनी पुश्तैनी संपत्ति को सौंपकर महत्वपूर्ण योगदान दिया है.

Photo- ANI Photo- ANI

  • प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी के बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया
  • कार्यकर्ताओं से संवाद कर पीएम ने सरकार की योजनाओं के बारे में बात की
  •  पीएम ने वाराणसी के लोगों को आने वाले त्योहारों के लिए शुभकामनाएं भी दी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे हैं. पीएम ने कहा कि देश में इस समय त्योहार का वातावरण है. उत्साह, उमंग का माहौल है. आप सब दीपावाली, छठ पूजा जैसे उत्सवों की तैयारी में जुटे होंगे. इस अवसर पर आप सभी से मिलना मेरे लिए भी खास हो जाता है. आप कार्यकर्ताओं से मिलकर मेरा उत्साह भी बढ़ जाता है.

पीएम ने कहा कि आज जब हम अपनों के बीच दिवाली मना रहे हैं तब उन लाखों वीर बेटे-बेटियों और उनके परिवारों को भी शुभ कामनाएं देना हमारा कर्तव्य बनाता है. अपनी खुशियों के बीच हमें उन सबका स्मरण करना चाहिए जो हमारे लिए जीते हैं, जूझते हैं.

'चाहे सेना का जवान हों, अर्धसैनिक बल हों, पुलिस के जवान हों, एनडीआरएफ के जवान हों या छोटे-छोटे कर्मचारी हों, इन सभी का योगदान हमारी खुशियों को चार गुना कर देता है. इन्हीं के कारण हम त्योहार मना पाते हैं.'

'कार्यकर्ताओं ने विकास के लिए जो किया, वह गर्व का विषय'

PM ने कहा कि आप भाजपा कार्यकर्ता विकास की अनेक परियोजनाओं को जिस तरह वाराणसी में जमीन पर उतारने में मदद कर रहे हैं, वो भी मेरे लिए बहुत संतोष और गर्व का विषय है. काशी में हो रहे परिवर्तन का लाभ केवल वाराणसी को ही नहीं बल्कि आसपास के क्षेत्रों को भी हो रहा है.

पीएम मोदी ने जनसंघ के समय से संगठन के लिए काम करने वाले वाराणसी सेवापुरी विधानसभा के कार्यकर्ता कामेश्वर नारायण सिंह को याद करते हुए कहा कि श्रीमान कामेश्वर नारायण जी पिछले 10 अक्टूबर को हमें छोड़कर चले गए, मैं उन्हें आदर पूर्वक श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं.

पीएम ने कहा कि वाराणसी में जिस तरह गंगा घाटों और सड़कों पर सफाई और लाइटिंग का कार्य हुआ है, उसने वहां आने वाले पर्यटकों का मन मोह लिया है. पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है. काशी में हो रहे परिवर्तन का लाभ काशी के साथ-साथ आस पास के क्षेत्रों को भी हो रहा है.

'काशी विश्वनाथ धाम मैं नहीं बना रहा हूं, ये काम कोई नहीं कर सकता, ये सब तो भोले बाबा के आशीर्वाद से हो रहा है. इतना बड़ा कार्य केवल सरकार और प्रशासन के द्वारा संभव नहीं हो रहा है बल्कि इसमें 300 परिवारों ने अपनी पुश्तैनी संपत्ति को सौंपकर महत्वपूर्ण योगदान दिया है. आज लगभग 40 हजार वर्ग मीटर के क्षेत्र में जो कार्य हो रहा है, वो बिना काशीवासियों के सहयोग के सम्भव नहीं था.'

पीएम ने कहा कि मंदिर सिर्फ भगवान की पूजा के स्थल ही नहीं होते, बल्कि वह हमारी आस्था के केंद्र होते हैं, हमारे भक्ति भाव के सेंटर होते हैं. चाहे काशी विश्वनाथ का मंदिर हो या कोई अन्य मंदिर, यहां आकर हर किसी के मन में पॉजिटिविटी का संचार होता है.

'काशी का अपना अलग ही महत्व'

काशी की गलियों का अपना अलग ही महत्व है. ये गलियां काशी की आन-बान-शान हैं. लेकिन पहले इन गलियों के कारण बाबा भोलेनाथ के दर्शन में परेशानी होती थी. मां गंगा के दर्शन में भी कुछ रुकावट होती थी.

पीएम ने कहा कि हमारी पार्टी अचानक नहीं बनी, चार -चार पीढ़ी तक कार्यकर्ताओं ने अथाह परिश्रम किया, तब जाकर हमने लोगों का विश्वास पाया है. उन्होंने कहा कि हमें तय करना होगा कि केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे.

आयुष्मान भारत योजना का जिक्र कर पीएम मोदी ने कहा कि योजना का लाभ अब तक 50 लाख से ज्यादा लोग उठा चुके हैं. देश में 10 करोड़ से अधिक लोगों को ई-कार्ड्स जारी किए जा चुके हैं. वाराणसी में  ही 1.65 लाख से अधिक लोगों को योजना के गोल्डन कार्ड्स मिल चुके हैं.

'गांधी 150 देश के लिए बड़ा अवसर'

पीएम ने वाराणसी के लोगों को गांधी 150 के अवसर पर पद यात्रा करने के लिए बधाई भी दी. उन्होंने कहा कि अब देशवासियों ने सिंगल यूज प्लास्टिक से देश को मुक्त करने की ठान ली है. इस काम को बहुत आगे बढ़ाना है.

पीएम ने आह्वान किया कि क्या हम निर्णय कर सकते हैं कि 2022 तक हम केवल लोकल चीजें खरीदेंगे. अगर हमारे गांव में चीजें बनती हैं तो हम बाहर से नहीं लेंगे. गांधी 150 हमारे देश के लिए एक बहुत बड़ा अवसर है.

वाराणसी के लोगों को आने वाले त्योहारों के लिए शुभकामनाएं देते हुए पीएम ने कहा कि इस बार हम तय करेंगे कि हम दिवाली के दिनों में कोई भी चीज बर्बाद नहीं होने देंगे और उसे किसी न किसी जरूरतमंद तक पहुंचाएंगे. सम्मान के साथ उसे भी वो चीज खिलाएंगे. पीएम ने कहा कि आप अगर जनसामान्य के सुख दुख के साथी बनकर दिवाली मनाएंगे तो उसका अलग ही आनंद है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें