scorecardresearch
 

18 नवंबर से 13 दिसंबर तक चलेगा संसद का शीतकालीन सत्र

संसदीय कार्य मंत्रालय ने ऐलान किया है कि संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से 13 दिसंबर तक चलेगा. नरेंद्र मोदी सरकार के लिए यह सत्र काफी अहम माना जा रहा है.

संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से 13 दिसंबर तक (तस्वीर-IANS) संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से 13 दिसंबर तक (तस्वीर-IANS)

  • 18 नवंबर से 13 दिसंबर तक चलेगा संसद की शीतकालीन सत्र
  • मोदी सरकार के लिए अहम सत्र, अध्यादेश बन सकते हैं कानून

संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से 13 दिसंबर तक चलेगा. इस बाबत संसदीय कार्य मंत्रालय ने संसद के दोनों सदनों के सचिवों को जानकारी दी है. इससे पहले पिछले बुधवार को मंत्रिमंडल की संसदीय मामलों की समिति (सीसीपीए) की बैठक हुई थी. बैठक की अध्यक्षता रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने की थी, जिसमें सत्र की तारीखों पर फैसला हुआ था. मोदी सरकार के लिए यह सत्र काफी अहम है.

यह सत्र मोदी सरकार के लिए काफी अहम माना जा रहा है. इस सत्र के दौरान सरकार दो महत्वपूर्ण अध्यादेशों को कानून बनाने की पूरी कोशिश करेगी. पिछले दो साल से शीतकालीन सत्र 21 नवंबर को शुरू होता रहा है और जनवरी के पहले हफ्ते तक जारी रहता आया है.

ये अध्यादेश बन सकते हैं कानून

इनकम टैक्स एक्ट 1961 और फाइनेंस एक्ट 2019 पर सरकार अध्यादेश ला चुकी है. आगामी सत्र में इस अध्यादेश पर फैसला हो सकता है. मंद पड़ी अर्थव्यवस्था और विकास दर में तेजी लाने के लिए सरकार ने कॉरपोरेट टैक्स में भारी छूट दी है.

सरकार इस कदम से नए और देशी मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को राहत देना चाहती है. इनकम टैक्स एक्ट का अध्यादेश इसी से जुड़ा है. यह अध्यादेश सितंबर महीने में लाया गया था.

दूसरा अध्यादेश भी पिछले महीने लाया गया जो ई-सिगरेट और इससे जुड़े उपकरणों के निर्माण, स्टोरेज और बिक्री से जुड़ा है. आगामी सत्र में इस पर भी सरकार कानून बना सकती है.

(एजेंसी से इनपुट)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें