scorecardresearch
 

PAK ने फिर अलापा कश्मीर राग, शरीफ ने कहा- हमारे मामले में दखल न दे भारत

नवाज शरीफ ने भारतीय कारोबारी को रॉ का जासूस ठहराते हुए गंभीर आरोप लगाए, साथ ही कश्मीर के मुद्दे को भी हवा देने की कोशिश की.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने एक बार फिर ऐसा बयान दिया है जिससे उनके नापाक इरादों की झलक मिलती है. गुरुवार को उन्होंने भारतीय कारोबारी को रॉ का जासूस ठहराते हुए भारत पर गंभीर आरोप लगाए, साथ ही कश्मीर के मुद्दे को भी हवा देने की कोशिश की.

उन्होंने कहा, 'हिंदुस्तान की गतिविधियां बढ़ रही हैं. हिंदुस्तान का एक जासूस भी पकड़ा गया है. ये जो एक-दूसरे के मामलों में दखलअंदाजी की जा रही है, इसे बंद करना होगा. हिंदुस्तान और पाकिस्तान अपने-अपने मुद्दों को सुलझाएं.'

'कश्मीर का मसला हल करें'
लंदन में मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कश्मीर के मुद्दे पर नवाज शरीफ ने कहा, 'दोनों देशों को एक अच्छे हम साए की तरह आगे बढ़ना चाहिए, ताकि उनकी बीच चल रहे मतभेद दूर हों. कश्मीर का मसला भी हल करें.'

बता दें कि जिस शख्स को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने भारतीय जासूस बताया है वह एक कारोबारी है और उसे कथित रूप से अगवा करके पाकिस्तानी अधिकारियों ने जासूस बनाकर पेश किया है.

PAK ने फिर अलापा- बातचीत का राग
उधर, पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने गुरुवार को कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत जारी है. उन्होंने कहा, 'बातचीत सबसे अहम जरिया है रिश्तों को सुलझाने का. कूटनीति दूसरे देशों से बातचीत बढ़ाने और सामंजस्य के लिए ही होती है.' उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच विदेश सचिव स्तर की बातचीत से कोई हल निकलेगा.

बता दें कि जकारिया ने यह बयान पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित के उस बयान के ठीक एक हफ्ते बाद दिया है जिसमें उन्होंने कहा था कि दोनों देशों के बीच बातचीत अब रद्द हो चुकी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें