scorecardresearch
 

इस्लामी शासन के लिए ओसामा ने की थी नवाज शरीफ की मदद!

शमाम खालिद की लिखी किताब ‘खालिद ख्वाजा : शहीद ए अमन’ में दावा किया गया है कि इस्लामी व्यवस्था लाने के शरीफ के संकल्प को तब ख्वाजा और ओसामा ने पसंद किया था.

सत्ता में आने पर शरीफ अपने सभी वादों से पीछे हट गए थे सत्ता में आने पर शरीफ अपने सभी वादों से पीछे हट गए थे

एक नई किताब में दावा किया गया है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को साल 1990 में बेनजीर भुट्टो की अगुवाई वाली पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए अलकायदा के प्रमुख ओसामा बिन लादेन से रकम मिली थी.

इस्लामी शासन के लिए ओसामा ने की मदद
पूर्व आईएसआई सदस्य खालिद ख्वाजा की पत्नी शमाम खालिद की लिखी किताब ‘खालिद ख्वाजा : शहीद ए अमन’ में दावा किया गया है कि इस्लामी व्यवस्था लाने के शरीफ के संकल्प को तब ख्वाजा और ओसामा ने पसंद किया था.

भुट्टो के खिलाफ शरीफ की मदद
किताब में कहा गया, ‘‘पीएमएल एन के प्रमुख मियां मोहम्मद नवाज शरीफ को जिया शासन के खत्म होने के बाद बेनजीर भुट्टो नीत पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए अलकायदा के संस्थापक ओसामा बिन लादेन से धन मिला.’’

अपने वादे से मुकर गए थे शरीफ
पाकिस्तानी अखबार डॉन में सोमवार को छपी खबर के मुताबिक ओसामा ने शरीफ को बड़े पैमाने पर धन से मदद किया. इसके बावजूद सत्ता में आने पर शरीफ अपने सभी वादों से पीछे हट गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें