scorecardresearch
 

हंगामे की भेंट चढ़ सकता है संसद का शीतकालीन सत्र, असहिष्णुता का मुद्दा उठाएगा विपक्ष

अगले हफ्ते शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र के हंगामेदार होने की संभावना है, जहां विपक्ष असहिष्णुता के मुद्दे को बड़े स्तर पर उठाने की तैयारी कर रहा है और इससे जीएसटी समेत कुछ महत्वपूर्ण सुधार संबंधी विधेयकों को जल्द पारित करने के सरकार के प्रयास बाधित हो सकते हैं.

X
संसद भवन संसद भवन

अगले हफ्ते शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र के हंगामेदार होने की संभावना है, जहां विपक्ष असहिष्णुता के मुद्दे को बड़े स्तर पर उठाने की तैयारी कर रहा है और इससे जीएसटी समेत कुछ महत्वपूर्ण सुधार संबंधी विधेयकों को जल्द पारित करने के सरकार के प्रयास बाधित हो सकते हैं.

ललितगेट विवाद में इस्तीफे की मांग कायम
कांग्रेस के शीर्ष सूत्रों ने बताया कि पार्टी ने ललितगेट विवाद में केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज के इस्तीफे और व्यापम घोटाले को लेकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के इस्तीफे की मांग भी नहीं छोड़ी है. कांग्रेस की इन मांगों के मद्देनजर संसद का मानसून सत्र एक तरह से बेकार चला गया था.

केंद्रीय मंत्री वीके सिंह पर हमला
संसद के आगामी सत्र में कांग्रेस का हमला केंद्रीय मंत्री वीके सिंह पर भी हो सकता है, जिन्होंने हरियाणा में एक दलित परिवार के दो बच्चों की जलने से मौत के मामले में कुत्ते वाला बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया था.

पीएम मोदी के अंदाज पर नाराजगी
कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने प्रमुख मुद्दों पर विपक्षी दलों के साथ काम करने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अंदाज पर नाराजगी प्रकट की. जीएसटी पर पार्टी ने स्पष्ट संकेत दिया है कि अगर पार्टी की चिंताओं पर ध्यान दिया जाता है, तो वह विधेयक पारित कराने में मदद करेगी.

नाम नहीं जाहिर होने की शर्त पर बात कर रहे कांग्रेसी नेता ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर वित्त मंत्री अरुण जेटली की योजना का स्वागत किया, लेकिन साफ किया कि जीएसटी के मुद्दे पर उन्हें लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद से मिलना होगा.

बिहार चुनाव के बाद संसद का पहला सत्र
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी आगामी सत्र की रणनीति के लिए अगले सप्ताह पार्टी नेताओं की बैठक बुला सकती हैं. बिहार चुनाव के बाद संसद का यह पहला सत्र है. जदयू महासचिव केसी त्यागी ने असहिष्णुता के मुद्दे को उठाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री को जहर उगलने वालों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए और भड़काउ बयान देने वाले अपने पांच केंद्रीय मंत्रियों को हटाना चाहिए.

इनपुट- भाषा

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें