scorecardresearch
 

कविता के जरिए नरेंद्र मोदी ने बयां किया दर्द-ए-दिल

नरेंद्र मोदी भी अटल बिहारी वाजपेयी की तरह कवि हैं. वे भी मनोभावनाओं को कविता के माध्यम से दुनिया के सामने रखते हैं. पहली बार नरेंद्र मोदी का कवि रूप सामने लाने के लिए उनकी कविताओं का गुजराती से अंग्रेजी में अनुवाद 'ए जर्नी' नाम से किताब के रूप में सामने आया है.

नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो) नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नरेंद्र मोदी भी अटल बिहारी वाजपेयी की तरह कवि हैं. वे भी मनोभावनाओं को कविता के माध्यम से दुनिया के सामने रखते हैं. पहली बार नरेंद्र मोदी का कवि रूप सामने लाने के लिए उनकी कविताओं का गुजराती से अंग्रेजी में अनुवाद 'ए जर्नी' नाम से किताब के रूप में सामने आया है.

नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनते ही इसका हिंदी अनुवाद भी बाजार में आ जाएगा. लेकिन मोदी के 67 कविताओं के संग्रह में सबसे चर्चित हो रही है 'ओड् टू लव', जिसे हिंदी अनुवाद में 'प्रेम' के नाम से प्रकाशित किया जा रहा है. इस कविता के जरिए मोदी ने प्रेम के बारे में अपना हाल-ए-दिल व्यक्त किया है. इस कविता से मोदी ने यह बताने की कोशिश की है कि पत्नी विछोह ने किस कदर उन्हें अंदर से झकझोर कर रख दिया है.

मोदी की कविता की पंक्तियां इस तरह हैं:
जिन झणों में मुझे तुम्हारे होने का अहसास हुआ है
मेरे दिमाग के शांत हिमालयी जंगल में
एक वन अग्नि धधक रही है
गंभीरता से उठती हुई
जब मैं अपनी आंखें तुम पर रखता हूं
मेरे मस्तिष्क की आंख में एक पूर्ण चंद्रमा उदय होता है
और मैं संपूर्ण पुष्पित चंदन के वृक्ष से झरती महक से भर जाता हूं
और तब जब आखिरी बार हम मिले थे
मेरे होने का पोर-पोर एक अतुलनीय महक से भर गया था
हमारे अलगाव ने
मेरे जीवन के आनंद के सभी शिखरों को पिघला दिया था
जो मेरे देह को झुलसाती है और
मेरे सपनों को राख में बदल देती है
पूर्ण चंद्रमा किसी नदी के सुदूर तट पर बैठता है
और दुर्दमनीय कंपकंपाती शीत मेरी दुर्दशा को निहारती है
तुम्हारी कोमल उपस्थिति के बिना
मेरे जीवन के जहाज पर
न कोई कप्तान और न कोई पतवार है.

मोदी की मूल रूप में ये गुजराती की कविताएं हैं, जिन्हे अंग्रेजी में रवि मंथा ने अनुवाद किया है. हेल्थ गुरु मंथा मोदी की पॉलिटिकल टीम से जुड़े हैं और उनकी कई किताबें आ चुकी है. इसे रूपा पब्लिकेशन ने 'ए जर्नी' के नाम से प्रकाशित किया है. इसकी हिंदी की पांडुलिपि तैयार है, जिसे तीन-चार सप्ताह में प्रकाशित कर दिया जाएगा. मोदी की कविताएं एक ऐसे मोदी को सामने लाती है, जिसका दिलोदिमाग कट्टरता से परे और मानव प्रेम से भरा है. इन कविताओं के शीर्षक हैं- जर्नी, ब्लेस्ड दीज आइज, फ्लीटिंग, आड टू लव, अवेकनिंग, बी टुगेदर, सेलिब्रेशन, कारगिल, सॉन्‍ग ऑफ ए न्यू डायरेक्शन, प्राउड ए हिंदू, गरबा, लव सो स्ट्रेंज आदि.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें