scorecardresearch
 

जम्मू-कश्मीर: आर्मी का चीता हेलिकॉप्टर क्रैश, दोनों पायलट सुरक्षित

जम्मू-कश्मीर के रियासी में सेना का एक हेलिकॉप्टर सोमवार को क्रैश हो गया. हेलिकॉप्टर में सवार दोनों जवान सुरक्षित हैं. 

रियासी जिले के माहोर सब डिवीजन में हुई घटना (PTI फोटो) रियासी जिले के माहोर सब डिवीजन में हुई घटना (PTI फोटो)

  • रियासी में सेना का हेलिकॉप्टर हुआ क्रैश
  • दोपहर 11 बजे हुआ हेलिकॉप्टर क्रैश

जम्मू-कश्मीर के रियासी में सेना का एक हेलिकॉप्टर सोमवार को क्रैश हो गया है. रिपोर्ट के मुताबिक ये घटना जम्मू के रियासी जिले के माहोर सब डिवीजन में रुद नाला के पास हुई है. हालांकि इस दुर्घटना में दोनों पायलट सुरक्षित हैं. घटना आज सुबह सवा ग्यारह बजे की है.

सेना से मिली जानकारी के मुताबिक चॉपर ने ऊधमपुर से प्रशिक्षण उड़ान भरी थी. सेना ने बताया कि यह दुर्घटना सुबह 11.30 बजे घटी. समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक सेना ने कहा कि दोनों पायलट सुरक्षित हैं और खतरे से बाहर हैं. सेना ने कहा कि घटना की जांच शुरू कर दी गई है.

पिछले साल अक्टूबर में चीफ ऑफ नॉर्दर्न स्टाफ के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रनबीर सिंह और अन्य अधिकारियों को ले जा रहे भारतीय थल सेना के एक हेलीकॉप्टर में तकनीकी खामी आने के बाद उसकी पुंछ क्षेत्र में आपातकालीन लैंडिंग करानी पड़ी थी.

यह भी पढ़ें: वायुसेना की गलती से बडगाम चॉपर क्रैश में मारे गए पायलटों को मिला वीरता पुरस्कार

लेफ्टिनेंट जनरल रनबीर सिंह तथा छह अन्य अधिकारियों को ऊधमपुर से पुंछ ले जा रहे सेना के ध्रुव एडवांस्ड लाइट हेलीकॉप्टर (एएलएच) में तकनीकी खामी आ गई थी.

इससे पहले सितंबर 2019 में भूटान में भारतीय सेना का एक हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया था जिसमें दो पायलटों शहीद हो गए थे. इस हादसे में एक भारतीय सेना का भी पायलट शहीद हुआ था.

यह भी पढ़ें: अमेरिका ने माना- आर्मी का था गजनी में क्रैश हुआ विमान, तालिबान का दावा खारिज

दुर्घटना में शहीद होने वाले भारतीय सेना के पायलट लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक के थे, जबकि दूसरा भूटानी सेना का पायलट था और वो भारतीय सेना के साथ ट्रेनिंग पर था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें