scorecardresearch
 

फातिमा खुदकुशी केस: IIT मद्रास के बाहर प्रदर्शन जारी, आज CM से मिल सकते हैं पिता अब्दुल

आईआईटी मद्रास में छात्रों के संगठन ने फातिमा की खुदकुशी की जांच कराए जाने की मांग की है. छात्रों के संगठन ने फातिमा को न्याय दिलाने के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म भी तैयार किया है.

चेन्नई में फातिमा को न्याय दिलाने को लेकर छात्रों का प्रदर्शन जारी (फोटो-अक्षया नाथ) चेन्नई में फातिमा को न्याय दिलाने को लेकर छात्रों का प्रदर्शन जारी (फोटो-अक्षया नाथ)

  • फातिमा लतीफ ने 9 नवंबर को कर ली थी खुदकुशी
  • फातिमा को न्याय दिलाने को लेकर छात्र आंदोलित
  • जुलाई 2019 में IIT मद्रास में लिया था एडमिशन

आईआईटी मद्रास की छात्रा फातिमा लतीफ की खुदकुशी का मामला खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. आईआईटी मद्रास के छात्र संगठन ने फातिमा की खुदकुशी की जांच कराए जाने की मांग की है. छात्रों के संगठन ने फातिमा को न्याय दिलाने के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार किया है जिसके जरिए प्रदर्शन को अभियान बनाया जा सके.

छात्रों के संगठन की ओर से फातिमा लतीफ की खुदकुशी के बाद कैंपस में शैक्षणिक उत्पीड़न, धार्मिक, जाति या जातीयता आधारित भेदभाव की संभावनाओं को देखते हुए मानव संसाधन विभाग (एमएचआरडी) और अल्पसंख्यक आयोग से स्वतंत्र जांच की मांग की गई है.

शिकायत कल्याण सेल की मांग

छात्रों की अन्य मांग है कि आईआईटी मद्रास (IITM) में SC/ST/OBC/अल्पसंख्यक छात्रों की शिकायतों को दूर करने के लिए शिकायत कल्याण सेल का कार्यान्वयन किया जाए. इसके लिए कैंपस में जेंडर सेंसेटिव साइकायट्रिस्ट की पूर्णकालिक नियुक्ति और मेंटल हेल्थ सपोर्ट सिस्टम को मजबूत करने का आग्रह किया गया है.

इस बीच डीएमके यूथ विंग ने भी फातिमा की खुदकुशी की जांच की मांग की है. कैंपस के बाहर प्रदर्शन जारी है और आज इसका तीसरा दिन है. फातिमा ने 9 नवंबर को खुदकुशी कर ली थी. फातिमा के पिता अब्दुल लतीफ शुक्रवार को मुख्यमंत्री ईपीएस और राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित के अलावा पुलिस महानिदेशक से भी मुलाकात कर सकते हैं.

छात्रा फातिमा लतीफ की खुदकुशी पर अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने कहा कि सांप्रदायिक विभाजन पर बहस पूरे देश में फैलती जा रहा है और इसका असर हर तरफ दिख रहा है. कैंपस में होने वाली मौतों को इससे नहीं जोड़ा जा सकता और यह (सांप्रदायिक विभाजन) एक त्रासदी है जो देशभर में हो रही है.

प्रोफेसर पर उत्पीड़न का आरोप

इससे पहले आईआईटी मद्रास की छात्रा फातिमा लतीफ खुदकुशी मामले में उस समय नया मोड़ आ गया जब मृतक छात्रा के पिता अब्दुल लतीफ ने आईआईटी मद्रास के ही एक असिस्टेंट प्रोफेसर पर फातिमा के उत्पीड़न का आरोप लगाया.

इसके साथ ही पिता अब्दुल लतीफ ने केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन से मिलकर इंसाफ की गुहार लगाई है. उन्होंने सीएम विजयन को भेजे खत में कहा कि उनकी बेटी फातिमा लतीफ के मोबाइल फोन में सुसाइड नोट मिला है जिसमें उसने एक असिस्टेंट प्रोफेसर पर उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था.

अब्दुल लतीफ ने केरल के मुख्यमंत्री से फातिमा लतीफ की मौत की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है. अब्दुल लतीफ ने कहा कि उनकी बेटी ने बताया था कि उसे एग्जाम के लिए पढ़ाई करनी है. इसके लिए वह मोबाइल स्विच ऑफ करने जा रही है. उसके दोस्तों की ओर से भी कुछ साफ-साफ नहीं बताया गया. हॉस्टल के वॉर्डन ने परिवार को फातिमा के खुदकुशी की जानकारी दी थी.

पढ़ने-लिखने में काफी होशियार रही फातिमा लतीफ ने ऑल इंडिया आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम में फर्स्ट रैंक हासिल की थी और जुलाई 2019 में आईआईटी मद्रास में एडमिशन लिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें