scorecardresearch
 

मोदी सरकार का प्रियंका गांधी को नोटिस-एक महीने में खाली करो लोधी एस्टेट का बंगला

मोदी सरकार ने कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को लोधी एस्टेट स्थित बंगला खाली करने को कहा है. प्रियंका को ये बंगला एक अगस्त तक खाली करना है.

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी (PTI) कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी (PTI)

  • करीब दो दशक से इस बंगले में रह रही हैं प्रियंका गांधी
  • मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स ने भेजा नोटिस

मोदी सरकार ने कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को लोधी एस्टेट स्थित बंगला खाली करने को कहा है. प्रियंका को ये बंगला एक अगस्त तक खाली करना है. SPG सुरक्षा हटने के चलते बंगला खाली करना होगा. इस बाबत उन्हें नोटिस जारी कर दिया गया है.

spg_070120070421.jpg

नोटिस मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स की ओर से जारी किया गया है. 6-बी हाउस नंबर- 35 लोधी एस्टेट में प्रियंका गांधी फैमिली के साथ रहती हैं. लगभग दो दशक से प्रियंका इसी मकान में रह रही हैं. सूत्रों के मुताबिक, प्रियंका गांधी नोटिस का पालन करेंगी और इस पर उन्हें कुछ नहीं कहना है.

बीते साल नवंबर में हटाई गई थी SPG सुरक्षा

बता दें कि एसपीजी सुरक्षा के तहत गांधी परिवार को ये बंगला अलॉट किया गया था, लेकिन बीते साल नवंबर में केंद्र सरकार ने एसपीजी सुरक्षा हटा ली थी. मोदी सरकार के इस फैसले के बाद कांग्रेस ने इसे एक साजिश करार दिया था. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 21 मई, 1991 को हुई हत्या के बाद गांधी परिवार को एसपीजी सुरक्षा प्रदान की गई थी.

गांधी परिवार को मिली है Z+ कैटेगरी की सुरक्षा

मोदी सरकार ने कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की सुरक्षा Z+ कैटेगरी की कर दी है जो सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स के जिम्‍मे है. इससे पहले मोदी सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का एसपीजी कवर वापस ले लिया था. अब एसपीजी की सुरक्षा सिर्फ पीएम मोदी के पास है.

रॉबर्ट वाड्रा के करीबी संजय भंडारी के खिलाफ CBI ने दर्ज की FIR

इस साल फरवरी में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को राजस्थान और छत्तीसगढ़ के सीएम ने राज्यसभा सीट की पेशकश की थी. हालांकि इस पर प्रियंका गांधी की ओर से कोई जवाब नहीं आया था. अगर प्रियंका गांधी राज्यसभा सदस्य चुनी जातीं तो वो बंगला बरकरार रख सकती थीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें