scorecardresearch
 

नीतीश बोले- बिहार के लोग ही राज्य की छवि करते हैं खराब

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा कि प्रकाश पर्व में सारी व्यवस्था बिहार सरकार ने की थी. हमने एनडीए सरकार को भी इसके आयोजन में भागीदारी के लिए पत्र लिखा लेकिन कोई जवाब नहीं आया. उन्होंने कहा कि सभी निमंत्रण गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से भेजे गए थे. सरकार ने कमेटी के आंतरिक मामलों में कोई दखल नहीं दिया.

नीतीश कुमार नीतीश कुमार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि बिहार के लोग ही बिहार की छवि खराब करते हैं. नीतीश कुमार आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को प्रकाश पर्व के दौरान मंच से नीचे बैठने को लेकर हो रहे विवाद पर बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद यादव ने खुद कहा कि उन्हें इससे कोई ऐतराज नहीं है लेकिन फिर भी कुछ लोग इसको विवाद बनाने में लगे हुए हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि प्रकाश पर्व को इतने शानदार तरीके से सम्पन्न कराया गया जिसकी प्रशंसा देश-विदेश आए लोग भी करके गए हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह सभी ने इस आयोजन की खूब सराहना की है. यहीं नहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तक ने इस सफल आयोजन के लिए धन्यवाद दिया.

बावजूद इसके यहीं के लोग बैठने को लेकर विवाद खड़ा कर रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा कि प्रकाश पर्व में सारी व्यवस्था बिहार सरकार ने की थी. हमने एनडीए सरकार को भी इसके आयोजन में भागीदारी के लिए पत्र लिखा लेकिन कोई जवाब नहीं आया. उन्होंने कहा कि सभी निमंत्रण गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से भेजे गए थे. सरकार ने कमेटी के आंतरिक मामलों में कोई दखल नहीं दिया. बैठने की व्यवस्था भी उन्हीं की तरफ से की गई थी.

गौरतलब है आरजेडी के उपाध्यक्ष और पूर्व ग्रामीण विकास मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने लालू प्रसाद यादव को मंच के नीचे बैठाने को लेकर बयान दिया था कि लोगों को यह अच्छा नहीं लगा कि लालू प्रसाद यादव जमींन पर बैठे बाद में बीजेपी के नेताओं ने भी इसे हवा दी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इन्हीं नेताओं को जवाब देते हुए ये बयान दिया है.

मुख्यमंत्री का कहना है कि सिख समुदाय में सभी नीचे बैठकर ही अरदास करते हैं और मत्था टेकते हैं चाहे वो प्रधानमंत्री हो या राष्ट्रपति. आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव, उनके बेटे उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव ने भी इसको लेकर कोई सवाल नहीं उठाया. तेजस्वी यादव ने यहां तक कहा कि लालू प्रसाद यादव जमींन के नेता हैं तो जमीन पर बैठने से क्या गुरेज हो सकता है.

नीतीश कुमार ने कहा कि प्रकाश पर्व के सफल आयोजन से बिहार की छवि में और निखार आया है और अब गांधी जी के चम्पारण सत्याग्रह के 100वें साल का आयोजन भी इसी भव्य तरीके से करने का प्रयास किया जायेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें