scorecardresearch
 

उत्तर भारत के कई राज्यों में आंधी-बारिश का कहर, राजस्थान में 31 लोगों की मौत

राजस्थान सरकार की तरफ से इलाकों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है. सभी इलाकों में एनडीआरएफ की टीमें राहत काम के लिए तैनात कर दी गई हैं.

आंधी से बर्बादी आंधी से बर्बादी

पिछले 24 घंटे में मौसम की मार से कहीं तबाही हुई तो कहीं लाखों की बर्बादी हुई. पूरे उत्तर भारत में देर शाम और रात में मौसम ने ऐसा कहर बरपाया जिसमे अकेले राजस्थान में ही 31 लोगों की मौत हो गई और 100 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं.

तूफान की रफ्तार 2 किलोमीटर प्रति घंटा

राजस्थान में भीषण गर्मी के बीच आए तूफान ने कोहराम मचा दिया है. राजस्थान के 4 जिले भरतपुर, धौलपुर, अलवर और झुंझुनू में ज्यादा नुकसान हुआ है. भरतपुर में 16 लोगों की मौत हुई है, जबकि धौलपुर में 11, अलवर में 3 और झुंझुनू में 1 की मौत हुई. बुधवार  शाम करीब 7 बजे राजस्थान में तेज तूफान का दौर शुरू हुआ. इसमें से इन 4 जिलों में तूफान करीब 2 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलना शुरू हुआ. तूफान ने इन इलाकों में कई मकानों के टीन शेड और छत उड़ा दिए. हजारों की संख्या में पेड़ और बिजली के खंभे गिर गए.

एनडीआरएफ की टीमें तैनात

आंधी और तूफान से कई जगह रेलवे लाइन पर अवरोध पैदा हुआ और यातायात ठप रहा. धूल भरी आंधी की वजह से आसमान में अंधेरा छा गया और बिजली गुल हो गई. जिससे लोगों को काफी परेशानी हुई. इन जिलों में अभी तक बिजली की व्यवस्था नहीं हो पाई.

राजस्थान सरकार की तरफ से इलाकों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है. सभी इलाकों में एनडीआरएफ की टीमें राहत काम के लिए तैनात कर दी गई हैं.

अभी मई का पहला हफ्ता भी नहीं बीता है कि रंगीले राजस्थान का रंग मौसम ने बदरंग कर दिया है. जो शहर दोपहर तक आसमान से बरसती आग में जल रहे थे वहां शाम ढलने के साथ बारिश और आंधी तूफान ने कोहराम मचा दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें