scorecardresearch
 

उत्तर भारत में बदला मौसम का मिजाज, दिल्ली-NCR में धूल भरी आंधी के बाद बारिश

दिल्ली-NCR में दोपहर बाद करीब साढ़े चार बजे धूल भरी आंधी चली और फिर शाम से बारिश शुरू हो गई. इस बारिश से तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई है, जिससे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के लोगों को उमस से राहत मिली है.

फाइल फोटो फाइल फोटो

दिल्ली-NCR, हिमाचल, हरियाणा और पंजाब समेत पूरे उत्तर भारत में बुधवार को अचानक मौसम का मिजाज बदल गया. धूल भरी आंधी और बारिश के चलते दिन में अंधेरे छा गया. कुछ देर तक आसमान में धूल के सिवाय कुछ नजर नहीं आ रहा था. लुधियाना समेत कई शहरों में दोपहर डेढ़ बजे इतना ज्यादा अंधेरा छा गया कि गलियों और सड़कों की लाइटें तक जलानी पड़ी. वाहन चालकों को भी हेडलाइट जलानी पड़ी.

दिल्ली-NCR में दोपहर बाद करीब साढ़े चार बजे धूल भरी आंधी चली और फिर शाम से बारिश शुरू हो गई. इस बारिश से तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई है, जिससे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के लोगों को उमस से राहत मिली है.

इसके अलावा उत्तर भारत में मौसम के बदले मिजाज से कई इलाकों में तापमान काफी नीचे आ गया. जहां एक ओर इस बारिश ने लोगों को गर्मी से राहत दी, तो दूसरी ओर किसानों की चिंता बढ़ाई. हिमाचल, हरियाणा और पंजाब समेत पूरे उत्तर भारत में धूल भरी आंधी और बारिश के चलते किसानों के अनाज खराब होने की आशंका बढ़ गई. दरअसल, किसानों की फसल अभी मंडियों में पड़ी है, जिसके चलते इसके भीगने और खराब होने की चिंता सता रही है.

इस बेमौसम बारिश से चंडीगढ़ में तापमान 40 डिग्री से घटकर जनवरी महीने के बराबर पहुंच गया. इसके अलावा आंध्र प्रदेश में भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. राज्य के उत्तर के तटवर्ती और मध्यवर्ती जिलों में भारी बारिश की वजह से अब तक 18 लोगों की मौत भी हो चुकी है, जबकि पांच लोग लापता बताए जा रहे हैं.

मौसम के इस बिगड़े मिजाज के कारण श्रीकुलुलम, विजयनगरम, और विशाखापत्तनम जिलों में बड़े पैमाने पर फसलों को नुकसान हुआ है. आंध्र प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में करीब 60 मिमी बारिश हुई. इसकी वजह से विशाखापत्तनम जैसे शहरों में कई जगह जल जमाव की समस्या पैदा हो गई और जाम की स्थिति देखने को मिली.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें