scorecardresearch
 

कोरोना इफेक्ट: महाराष्ट्र के बाद अब राजस्थान में पाबंदी, जोधपुर में धारा 144 लागू

कोरोना के बढते प्रकोप को देखते हुए एक बार फिर जोधपुर मे धारा 144 लागू कर दी गई है. यानी कि एक साथ एक जगह पर पांच से अधिक व्यक्तियों के इकट्ठा होने पर रोक लगा दी गई है. 

जोधपुर में धारा 144 लागू (फाइल फोटो) जोधपुर में धारा 144 लागू (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • क्या देश में फिर लौट रही है कोरोना?
  • जोधपुर में एहतियातन लगाई गई धारा 144

महाराष्ट्र के बाद अब राजस्थान में भी कोरोना की वजह से पाबंदी शुरू  हो गई है. कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए एक बार फिर जोधपुर मे धारा 144 लागू कर दी गई है. यानी कि एक साथ एक जगह पर पांच से अधिक व्यक्तियों के इकट्ठा होने पर रोक लगा दी गई है. पुलिस उपायुक्त मुख्यालय ने सोमवार शाम आदेश जारी करते हुए यह बात कही है. इसके अलावा शादी समारोह मे 100 से अधिक व्यक्ति सम्मिलित नहीं हो सकेंगे. हालांकि आवश्यक सेवाओं और स्कूल-कॉलेज के छात्रों को इस मामले में छूट दी गई है. यह आदेश 22 फरवरी से आगामी 21 मार्च तक प्रभावी रहेगा. 

इससे पहले अमरावती समेत महाराष्ट्र के पांच जिलों में रविवार को आंशिक प्रतिबंध लगाए गए थे. ये शहर हैं- अमरावती, अकोला, बुलढाणा, वाशिम और यवतमाल. इन सभी जिलों में अगले सात दिनों के लिए आंशिक लॉकडाउन का पालन किया जाएगा. हालांकि एसेंशियल सर्विसेज पर यह लागू नहीं होगा. जैसे कि मेडिकल शॉप्स, अस्पताल, खाने-पीने के सामान और सब्जी की दुकानें. इसके अलावा अन्य सभी व्यावसायिक गतिविधियां शाम पांच बजे से सुबह नौ बजे तक बंद रहेंगी. अमरावती शहर में सात दिनों के लिए पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए ये महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं. 

वहीं नासिक में रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक आपातकालीन सेवा छोड़कर संचारबंदी की घोषणा की गई है. अगर कोई शख्स बिना मास्क लगाए घूमता दिखाई देता है तो उससे 1000 रुपये का जुर्माना लिया जाएगा. नासिक के गार्डियन मंत्री छग्न भुजबल ने लोगों से अपील की है कि वो फिलहाल शादी सामारोह से बचें. नासिक में 22 फरवरी से 1 मार्च तक नाइट कर्फ्यू लगाई गई है. 

कोरोना के फिर से बढ़ते प्रकोप के बीच नागपुर में फिर से सख्ती बढ़ा दी गई है. अब नागपुर में 25 फरवरी से 7 मार्च तक स्कूल-कॉलेज या ट्यूशन क्लास बंद रहेंगी. इसके अलावा साप्ताहिक बाजार बंद कर दिया गया है. वहीं होटल-रेस्तरां में फिर से 50 फीसदी क्षमता, 9 बजे तक खुलने का नियम लागू कर दिया गया है. 

बता दें कि कोरोना का संकट महाराष्ट्र में फिर से फैलता जा रहा है और इसकी गवाही आंकड़े ही दे रहे हैं. रविवार को महाराष्ट्र में करीब 7 हजार मामले दर्ज किए गए और 35 लोगों की मौत हुई. राज्य में लगातार तीसरा दिन है जब कुल केस 6 हजार के पार गए हैं. कोरोना मामलों की ये बढ़ती संख्या ही महाराष्ट्र को फिर एक बार लॉकडाउन की ओर धकेल रही है.

सीएम के संदेश के बाद सख्ती बढ़ी बीते दिन महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य की जनता को संबोधित किया था. उद्धव ने साफ कहा कि लोगों को मास्क पहनना होगा, नियमों का पालन करना होगा. लेकिन अगर कोई नियम का पालन नहीं करेगा, तो सरकार को फिर से लॉकडाउन लगाना पड़ेगा. उद्धव के इस ऐलान के बाद से ही मुंबई, पालघर समेत कई जिलों में स्थानीय निकायों ने एक्शन लिया है और सार्वजनिक समारोह पर शिकंजा कसा है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें