scorecardresearch
 

महाराष्ट्र में कोरोना से हाहाकार, नागपुर में स्कूल बंद लेकिन VIP पार्टियों को छूट पर सवाल

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते संकट के बाद एक बार फिर लॉकडाउन का खतरा मंडराने लगा है. राज्य में लगातार कोरोना गाइडलाइन्स के नियमों में लापरवाही बरती जा रही है, ऐसे में कोरोना के केस बढ़ रहे हैं.

महाराष्ट्र में फिर कहर बरपा रहा है कोरोना (PTI) महाराष्ट्र में फिर कहर बरपा रहा है कोरोना (PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महाराष्ट्र में फिर से कोरोना वायरस का संकट
  • पिछले तीन दिनों में लगातार 6 हजार से अधिक केस
  • कई जिलों में सख्ती बढ़ा दी गई है

महाराष्ट्र में एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों ने हाहाकार मचा दिया है. राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जनता से नियमों का पालन करने की अपील की है, वरना फिर से लॉकडाउन जैसी स्थिति होने की बात कही है. वहीं कई शहरों में अभी से ही सख्ती बढ़ा दी गई है. जनता के लिए सख्ती फिर से बढ़ रही है, लेकिन दूसरी तरफ कुछ VIP पार्टियों के लिए मिल रही छूट फिर से सवालों के घेरे में है.

नासिक में वीआईपी पार्टी का जश्न
कोरोना की चिंता से महाराष्ट्र में लॉकडाउन लगने का खतरा है, लेकिन रविवार को नासिक में पूर्व सांसद धनंजय महादिक के बेटे की शादी का जश्न मनाया गया. यहां कोरोना गाइडलाइन्स का पालन नहीं हुआ. अहम बात ये भी है कि इस पार्टी में राज्य के कई बड़े चेहरे शामिल हुए. जिसमें शरद पवार, देवेंद्र फडणवीस, संजय राउत, अरविंद सावंत जैसे नाम शामिल हैं. 

छगन भुजबल भी कोरोना पॉजिटिव
महाराष्ट्र सरकार में मंत्री छगन भुजबल भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं. सोमवार को उन्होंने खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी. लेकिन चिंता की बात ये है कि वो बीते दिन कई कार्यक्रमों में शामिल हुए थे. 

छगन भुजबल बीते दिन शरद पवार के साथ थे, साथ ही जयंत पाटिल भी इस कार्यक्रम में थे. छगन भुजबल खुद बीते दिन लॉकडाउन की बात कर रहे थे, लेकिन अब वो भी कोरोना की चपेट में आए हैं. छगन भुजबल से पहले भी राज्य सरकार के कई मंत्री कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. 

रविवार को मुंबई के जुहू बीच का नजारा (PTI)


नागपुर में स्कूल-कॉलेज और ट्यूशन क्लास बंद
कोरोना के फिर से बढ़ते प्रकोप के बीच नागपुर में फिर से सख्ती बढ़ा दी गई है. अब नागपुर में 25 फरवरी से 7 मार्च तक स्कूल-कॉलेज या ट्यूशन क्लास बंद रहेंगी. इसके अलावा साप्ताहिक बाजार बंद कर दिया गया है. वहीं होटल-रेस्तरां में फिर से 50 फीसदी क्षमता, 9 बजे तक खुलने का नियम लागू कर दिया गया है. 

डरा रहे हैं आंकड़े
आपको बता दें कि कोरोना का संकट महाराष्ट्र में फिर से फैलता जा रहा है और इसकी गवाही आंकड़े ही दे रहे हैं. रविवार को महाराष्ट्र में करीब 7 हजार मामले दर्ज किए गए और 35 लोगों की मौत हुई. राज्य में लगातार तीसरा दिन है जब कुल केस 6 हजार के पार गए हैं. कोरोना मामलों की ये बढ़ती संख्या ही महाराष्ट्र को फिर एक बार लॉकडाउन की ओर धकेल रही है.

सीएम के संदेश के बाद सख्ती बढ़ी 
बीते दिन महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य की जनता को संबोधित किया था. उद्धव ने साफ कहा कि लोगों को मास्क पहनना होगा, नियमों का पालन करना होगा. लेकिन अगर कोई नियम का पालन नहीं करेगा, तो सरकार को फिर से लॉकडाउन लगाना पड़ेगा. उद्धव के इस ऐलान के बाद से ही मुंबई, पालघर समेत कई जिलों में स्थानीय निकायों ने एक्शन लिया है और सार्वजनिक समारोह पर शिकंजा कसा है. 

महाराष्ट्र बीजेपी के नेता राम कदम ने राज्य सरकार के फिर से लॉकडाउन लगाने की बात कहने पर आपत्ति जताई है. राम कदम का कहना है कि राज्य की उद्धव सरकार अपनी जिम्मेदारी से नहीं भाग सकती है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें