scorecardresearch
 

Alwar Rape Case: प्रियंका गांधी ने पीड़िता के पिता से की बात, बच्ची का हालचाल पूछा, दिया मदद का भरोसा

12 जनवरी को अलवर में नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की हैरान कर देने वाली घटना हुई थी. आरोपियों ने मानसिक रूप से कमजोर बच्ची उठाया और उसके साथ रेप की घटना को अंजाम दिया. बच्ची को आरोपी बेहोशी की हालत में पुलिया पर फेककर फरार हो गए. स्थानीय लोगों की मदद से पीड़ित बच्ची को गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया गया.

प्रियंका गांधी. -फाइल फोटो प्रियंका गांधी. -फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सीएम गहलोत भी मामले पर रख रहे है नजर
  • संबित पात्रा ने प्रियंका से शुक्रवार को पूछा था सवाल

अलवर रेप केस में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने पीड़िता के पिता से बातचीत की है. शुक्रवार रात उन्होंने पीड़िता के पिता से फोन पर बात कर बच्ची के स्वास्थ की जानकारी ली. साथ ही पीड़ित परिवार के साथ सहानुभूति व्यक्त की. उन्होंने पीड़िता के पिता से पूछा कि क्या उन्हें किसी मदद की जरूरत है? मामले की जांच कैसे बढ़ रही है, वे अब तक की जांच से खुश हैं या नहीं? जवाब में पीड़िता के पिता ने प्रियंका को बताया कि मामले में प्रशासन का पूरा सहयोग मिल रहा है. बता दें कि इससे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी दो बार पीड़िता के पिता से बात कर चुके हैं. सीएम ने स्थानीय प्रशासन और पुलिस को हर संभव मदद का निर्देश दिया है.

उधर, शनिवार को भाजपा का प्रतिनिधिमंडल पीड़ित परिवार से मिलने अलवर गांव पहुंचा. भाजपा प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व अलवर से भाजपा सांसद बालकनाथ कर रहे हैं. वहीं, मामले को लेकर अलवर में सभी सुमदायों की एक बैठक भी हुई. मामले में आगे के संभावित रास्तों पर चर्चा की गई. बैठक में अलवर के सांसद बालकनाथ और शिरोमणि अकाली दल के नेताओं सहित कई भाजपा नेता भी शामिल हुए.

मामले को लेकर अलवर में सभी सुमदायों की एक बैठक में पहुंचे लोग.

बता दें कि 12 जनवरी को अलवर में नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की हैरान कर देने वाली घटना हुई थी. आरोपियों ने मानसिक रूप से कमजोर बच्ची उठाया और उसके साथ रेप की घटना को अंजाम दिया. बच्ची को आरोपी बेहोशी की हालत में पुलिया पर फेककर फरार हो गए. स्थानीय लोगों की मदद से पीड़ित बच्ची को गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया गया. बताया जा रहा है कि बच्ची के प्राइवेट पार्ट से खून बह रहा था उसकी हालत गंभीर थी. पीड़िता अस्पताल में जिंदगी और मौत से संघर्ष कर रही है. पुलिस इस मामले की जांच में जुटी और जल्द ही आरोपियों को पकड़ने का दावा कर रही है, लेकिन घटना के 3 दिन बाद भी किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है.  

महिला विकास मंत्री ने कहा था- अकेले सरकार कुछ नहीं कर सकती

14 जनवरी को राजस्थान की महिला विकास मंत्री ममता भूपेश ने कहा कि- दरिंदे हमारे बीच छिपे हैं. उन्होंने कहा कि कोई तिलक नहीं लगा है कि कौन दरिंदा है. क्या पता कौन इस रूप में दरिंदा बन जाता है. बालिकाओं की इज़्ज़त के प्रति और सकारात्मक पारिवारिक माहौल बनाना होगा. सरकार अकेले कुछ नहीं कर सकती.  उधर, भाजपा विधायक रामलाल शर्मा ने कहा, "राजस्थान में बलात्कार के कई मामले सामने आए हैं लेकिन अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली सरकार ने राज्य में व्याप्त अराजकता पर कोई कार्रवाई नहीं की है."

शुक्रवार को संबित पात्रा ने प्रियंका से पूछा था सवाल...

अलवर में मूक-बधिर लड़की से गैंगरेप पर भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने शुक्रवार को प्रियंका गांधी पर निशाना साधा था. उन्होंने प्रियंका गांधी से पूछा था कि लवर में एक 15-16 साल की दिव्यांग लकड़ी के साथ दुर्व्यवहार होता है, एक गाड़ी खून से लथपथ उस लड़की को सड़क पर छोड़कर जाती है, आज वो बेटी आईसीयू में अपने जीवन से लड़ रही है...

- क्या प्रियंका जी उस पीड़िता से मिलीं? उस पीड़िता के घर वे गईं क्या?

- क्या उन्होंने राजस्थान के मुख्यमंत्री से इस संदर्भ में रिपोर्ट मांगी?

संबित ने ये भी कहा था कि जब अलवर में ये घटना हो रही थी तब प्रियंका गांधी रणथंभौर में राबर्ट वाड्रा के साथ जन्मदिन मना रही थी. उन्होंने कहा कि जब भाजपा के नेताओं को पता चला कि प्रियंका गांधी राजस्थान में हैं तो भाजपा नेताओं ने प्रियंका से मुलाकात करने की कोशिश की, लेकिन कांग्रेस के नेताओं ने यह कहकर मिलने नहीं दिया कि प्रियंका गांधी अपना जन्मदिन मना रही हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×