scorecardresearch
 

उपराष्ट्रपति चुनाव: बीजेपी नेता को TMC ने पत्र लिखकर क्यों कहा- वोट मत करना

उपराष्ट्रपति चुनने के लिए एक तरफ जहां मतदान की प्रक्रिया चल रही है, वहीं दूसरी तरफ लोकसभा में तृणमूल कांग्रेस के संसदीय दल के नेता सुदीप बंदोपाध्याय का एक पत्र सामने आया है. सुदीप बंदोपाध्याय ने पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी के पिता शिशिर अधिकारी को पत्र भेजकर कहा है कि उपराष्ट्रपति चुनाव में वोट मत करना. 

X
शिशिर अधिकारी और ममता बनर्जी (फाइल फोटो) शिशिर अधिकारी और ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

देश का अगला उपराष्ट्रपति कौन होगा, इसके लिए चुनाव हो रहा है. उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग चल रही है तो वहीं अब लोकसभा में तृणमूल कांग्रेस संसदीय दल के नेता सुदी बंदोपाध्याय का पत्र सामने आया है. सुदीप बंदोपाध्याय ने पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी के सांसद पिता को पत्र लिखा है.

लोकसभा में टीएमसी संसदीय दल के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने शुभेंदु अधिकारी के पिता शिशिर अधिकारी को पत्र भेजा है. सुदीप बंदोपाध्याय ने शिशिर अधिकारी के भेजे इस पत्र में ये कहा है कि लोकसभा और राज्यसभा, दोनों ही सदनों के संसदीय दल के सदस्यों ने उपराष्ट्रपति चुनने के लिए होने वाले मतदान से दूर रहने का निर्णय लिया है.

उन्होंने अपने पत्र में ये भी कहा है कि इस निर्णय के मुताबिक हम 6 अगस्त को मतदान से दूर रहेंगे. सुदीप बंदोपाध्याय की ओर से शिशिर अधिकारी को ये पत्र 4 अगस्त के दिन भेजा गया था जो अब सामने आया है. लोकसभा में टीएमसी संसदीय दल के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने शिशिर अधिकारी को भेजे गए पत्र की प्रतिलिपि स्पीकर को भी भेजी है.

गौरतलब है कि शिशिर अधिकारी साल 2019 के लोकसभा चुनाव में टीएमसी के टिकट पर सांसद निर्वाचित हुए थे. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सांसद शिशिर अधिकारी के पुत्र शुभेंदु अधिकारी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली सरकार के कैबिनेट मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था और बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली थी.

शुभेंदु अधिकारी के टीएमसी छोड़ने के बाद शिशिर अधिकारी भी 2021 के विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हो गए थे. शिशिर अधिकारी बीजेपी में शामिल तो हो गए लेकिन लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया था. टीएमसी संसदीय दल के नेता ने अब उपराष्ट्रपति चुनाव की वोटिंग से दूर रहने के लिए शिशिर अधिकारी को पत्र भेजा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें